Joomla Business Themes by Web Host

  • Home
    Home This is where you can find all the blog posts throughout the site.
  • Categories
    Categories Displays a list of categories from this blog.
  • Archives
    Archives Contains a list of blog posts that were created previously.

b2ap3_thumbnail_IMG-20220110-WA0011.jpgb2ap3_thumbnail_IMG-20220110-WA0012.jpgb2ap3_thumbnail_IMG-20220110-WA0013.jpgb2ap3_thumbnail_IMG-20220110-WA0014.jpg

एकेएस वि.वि. सतना के Students नें नगर निगम सतना के निर्देशानुसार हमारी जिम्मेदारी के नाम से नाटक का प्रस्तुतिकरण किया। रंग शिल्पी समूह के द्वारा डाॅ.दीपक मिश्रा के निदेशन में स्वच्छता और कोरोना जागरुकता पर आधारित नाटक पेश किया गया। नगर निगम की तरफ से इंजी.अरुण तिवारी,और शिप्रा सिंह जबकि एकेएस वि.वि. की टीम में डाॅ. दीपक मिश्रा, सहा. निदेशक सांस्कृतिक निदेशालय डाॅ. धीरेन्द्र मिश्रा, प्राध्यापक बायोटेक शामिल रहे। नाटक के कलाकारों में अंजली सोनी, नैन्सी नामदेव, मुस्कान गुप्ता, स्वाती वर्मा, बबिता, कंचन पटेल, गुलनाज जहाॅ, अनिष विश्वकर्मा, रौनक द्विवेदी, मो.सरताज, वरुण पटेल, सुमित रैकवार, कृष्णा बंसल, सुधांशु राॅय और रघुराज सिंह प्रमुखता से शामिल रहे।

Hits: 25
0

b2ap3_thumbnail_WhatsApp-Image-2022-01-13-at-18.41.33.jpg

एकेएस वि.व. में शैक्षणिक उन्नत गतिविधियों के द्वारा सामाजिक और आर्थिक स्थिति के मद्देनजर किए जा रहे नवाचार निरंतर चर्चा में रहते हैं इसी कडी में Basic Science में कार्यरत Faculty डाॅ.शेलेन्द्र यादव और उनकी रिसर्च स्काॅलर शुषमा सिंह ने एक उल्लेखनीय उपलब्धि के तहत एल्सेवियर की एक प्रतिष्ठित पत्रिका में स्थान प्राप्त किया है जिसे विषय के लिहाज से काफी सराहा गया है उन्होंने कुछ नए पेस्टीसाइड का संस्लेषण किया है उन्होंने बताया कि सेस्लेशित Pesticides कुमारिन डेरिवेटिव भविष्य में बहुत उपयोगी साबित होगें। डाॅ.यादव और शुषमा ने कहा कि आर्गेनिक Chemistry और Medical Chemistry के लिहाज से कुमारिन डेरिवेटिव सेस्लेशित पेस्टीसाइड की एप्लीके शन काफी उपयोगी है। लेकिन इसका एक्यूट प्रभाव नकारात्मक न हो, एलर्जी के साथ अन्य बीमारियाॅ इनके प्रयोग से न हो इस बात का विशेष ध्यान रिसर्च ओर कार्यों में रखा जाएगा। पेस्टीसाइडस के बारे में उन्होंने बताया कि एकेएस वि.वि. के सभी शिक्षण विभागों में अंतरराष्ट्रीय मानक के शिक्षकों, अध्यापन और गंभीर शोध कार्यो के लिए एक अच्छा माहौल होने से विशिष्ट कार्यो की प्रेरणा मिलती है, संस्लेशित पेस्टीसाइडस का प्रयोग 1930 से ही प्रारंभ हो चुका है पर आज 500 से ज्यादा की संख्या में इंसेक्टस और माइटस के होने के कारण इनको रोकना काफी बडी चुनौती साबित हो रही है क्योंकि इन पर अब कई Pesticides का असर भी होना बंद हो गया है। अब तक 160 से ज्यादा पेस्टीसाइडस लिस्टेड हैं और इन इंसेक्टस और माइटस से बचाने के लिए प्रयास निरंतर जारी हैं आर्गेनोक्लोरीन, आर्गेनोफास्फेटस, कार्बामेटस और पाइरेथ्रोइडस जैसे सिन्थेटिक पेस्टीसाइडस पमुखता से उपलब्ध हैं। कुमारिन डेरिवेटिव पर उनकी उपलब्धि पर वि.वि. क ेप्रोचांसलर अनंत कुमार सोनी,डीन बेसिक साइंस डाॅ.आर.एन.त्रिपाठी,विभागाध्यक्ष डाॅ दिनेश मिश्रा,कान्हा सिंह तिवारी,मनोज कुमार,डाॅ.समित कुमार,नाहिद उस्मानी,दिनेश बाल्मीक तथा सुदरम खरे ने हर्ष व्यक्त करते हुए उन्हें शुभकामनाऐं दीं हैं।

Hits: 22
0

b2ap3_thumbnail_campus-1_20220112-061127_1.jpg

एकेएस विश्वविद्यालय, सतना के Department of computer Science and engineers के सीएसई, एमसीए, बीसीए और बीएससी, आईटी के छात्रों को उत्कृष्टता प्रौद्योगिकी, नवाचार और उद्यमिता से अनवरत परिचित कराया जाता है जिसका परिणाम हैं वि.वि. में लगातार चल रहे कैम्पस चयन के कार्यक्रम। एकेएस वि.वि. में शैक्षणिक क्षेत्र में गुणवत्ता की बदौलत 16 छात्रों रोशनी पटेल,रावेन्द्र सिंह,अभिजीत मिश्रा,आशुतोष सिंह,अभिलाश द्विवेदी,प्रभाकर द्विवेदी,लवकुश पाण्डेय,हृषभ मिश्रा,अंकित द्विवेदी,आशा कुमारी,रामबाबू,शिवा गुप्ता,खुश्बू सोनी,अरविंद सोनी और शुभम चैरसिया का चयन ओएसथ्री InfoTech Private Limited,नवी मुम्बई में विभिन्न पदों ट्रेनी इंजीनियर, सिस्टम एण्ड ट्रेनी इंजी. और Automation Technology पीएसपी के पदों पर किया गया है। सभी छात्रों को अच्छे पैकेज पर नियुक्ति मिली है उनका कार्यक्षेत्र नवी मुम्बई रहेगा। ज्वायनिंग के पूर्व रोस्ट्रिस इन्फोटेक प्रा.लिमि. के डायरेक्टर चंद्रशेखर शुक्ला सभी चयनित छात्रों को सर्वर एडमिनिस्ट्रेटर और क्लाडड Management की Training वि.वि. मे प्रदान कर रहे है। छात्रों के चयन पर वि.वि. के प्रोचांसलर अनंत कुमार सोनी, प्रतिकुलपति डाॅ. हर्षवर्धन, प्रो. आर.एस.त्रिपाठी,डीन डाॅ. जी. के. प्रधान, विभागाध्यक्ष डाॅ. अखिलेश ए.वाऊ के साथ computer विभाग के फैकल्टीज ने विद्यार्थियों के चयन पर हर्ष व्यक्त् करते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है।

Hits: 37
0

b2ap3_thumbnail_safeeducate.JPG

एकेएस विश्वविद्यालय, सतना के समस्त संकायों में Training और Skilling के लिए विविध देश विदेश के संस्थानों के साथ memorandum of Understand हैं इसी कडी में निरंतर प्रगति के लिए अन्य संस्थान भी विजन के साथ हाथ बढा रहे हैं Safe educated learning के साथ साझा कार्य इसी का एक क्रम है वि.वि. के प्रोचांसलर अनंत कुमार सोनी से सेफएज्यूकेट लर्निंग की टीम ने लेटेस्ट टेक्नाॅलाॅजी, इनोवेटिव टूल्स, रिच पूल आॅफ एक्सपीरियंश शेयरिंग, क्वालीफाइड और सर्टिफाइड ट्रेनर्स, सब्जेक्ट एक्सपर्ट के लिए दोनो हाथ मिलाए है। इसी के साथ इंडस्ट्री रिलेवेन्ट कार्यों, कार्यक्रमों और वर्कशाॅप के लिए भी दोनो संस्थानों में सहमति बनी है। सहयोग और सेवा के लिए दोनो संस्थान cooperation और कालैबोरेशन करेगें इस बात की जानकारी डाॅ. कौशिक मुखर्जी, विभागाध्यक्ष मैनेजमेंट ने दी है। उल्लेखनीय है कि सेफएज्यूकेट को कई एक्सीलेंस एवार्ड मिल चुके हैं, एकेएस वि.वि. के साथ जुडकर संस्थान के प्रतिनिधि भी प्रफुल्लित रहे और भविष्य के एकेडमिक एक्सीलेंस के कार्यो के लिए आशान्वित हैं। ट्रेनिंग और स्किल डेव्हलपमेंट की चर्चा के दौरान वि.वि. के प्रतिकुलपति डाॅ..हर्षवर्धन और सेफएज्यूकेट के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

 

Hits: 40
0

b2ap3_thumbnail_ias-5.JPGb2ap3_thumbnail_ias-11.JPGb2ap3_thumbnail_ias.JPGb2ap3_thumbnail_ias1.JPGb2ap3_thumbnail_iias.JPG

एकेएस विश्वविद्यालय सतना के सभागार में आयोजित हुए समारोह में सतना के तीन युवा आईएएस एक साथ मंच पर उपस्थित रहे अनुराग वर्मा,,आईएएस सतना कलेक्टर, सुश्री तन्वी हुडडा, आईएएस, कमिश्नर,नगर निगम सतना,डाॅ.परीक्षित जाडे,आईएएस ,मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत,सतना को अपने बीच पाकर प्रतिभागियों के चेहरे खिल उठे। उनके साथ श्री राजेश साही,अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी,वि.वि. के प्रोचांसलर अनंत कुमार सोनी ने 120 प्रतिभागियों को जीवन के बेहद अहम सबक सिखाते हुए रोजगारोन्मुखी कोर्सेस के कुछ पहलुओं और उनकी तैयारी के दृष्टिगत बिंदुओं से अवगत भी कराया और कॅरियर के लिए जरुरी सलाह भी दी। सभी के उच्च पदों पर विराजमान रहने के दौरान सामान्य जीवन से कैसे जुडें की सीख के साथ जिद,जज्बे,जीवटता और जुनून की दास्तान सुनकर स्टूडेन्टस को लगा हाॅ हम भी कर सकते हैं।जीवन में आए कई कठिन और हल्के पलों के साथ उन्होंने अपने अतीत के संस्मरण भी सुनाए जो काफी रोचक रहे। तीन सर्टिफिकेट कोर्सेस का हुआ शुभारंभ-काॅम्पीटीटिव और योगा सर्टिफिकेट की शुरुआत-कार्यक्रम में मुख्य अतिथि अनुराग वर्मा, कलेक्टर सतना रहे, उन्होंने अपनी सरल शैली और यथार्थवादी शब्दों में अपने आप को उजागर करते हुए कहा कि अगर मैं कलेक्टर नहीं होता तो निश्चित ही शिक्षक होता। कलेक्टर सतना ने बताया कि वह एम.एससी. मैथेमेटिक्स के विद्यार्थी रहे,पर हिस्ट्री लेकर आईएएस बने। मध्यम वर्गीय परिवार से उनका सरोकार रहा लेकिन कभी भी नकारात्मक पक्षों को देखने की आदत नहीं रही,उन्हे हमेशा लगा कि सपने वो नहीं होते हैं जो नींद में देखे जाते हैं बल्कि वो होते हैं जो हमें सोने नहीं देते हैं। उत्तर प्रदेश के एक छोटे से कस्बे से होने के बाद भी अनुराग वर्मा जी को हमेशा लगा कि वो आईएएस बन सकते हैं। उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत जीवन में हम सब हीरो हैं हमें सेल्फ कांफिडेंस रखना है और हमेशा सोचने की प्रक्रिया जारी रखनी है, 10 लाख लोग आईएएस की परीक्षा में शामिल होते हैं और 180 व्यक्ति ही कलेक्टर बनते हैं पर हतास न हों,आप भी हीरो हैं।उन्होंने बताया कि मैंने बिना कोचिंग के आईएएस दूसरे प्रयास में क्रैक किया प्रतिभागियों को मोटिवेट करते हुए उन्होने कहा जब समंदर में उतरे हैं तो मोती लेकर ही लौटना है। मौका था एकेएस वि.वि. में संचालित होने वाले सर्टिफिकेट कोर्स फार आल काॅम्पटीटिव एग्जाम्स, 6 माह, योगा थेरेपी सर्टिफिकेट कोर्स 6 माह और 3 माह के योगा थेरेपी सर्टिफिकेट कोर्स के शुभारंभ अवसर का जो 7 जनवरी को अतिथियों की उपस्थिति में समारोहपूर्वक संपन्न हुआ। कार्यक्रम में डाॅ. परीक्षित जाडे,आईएएस, जिला पंचायत सीईओ ने प्रतिभागियों से अपना अनुभव शेयर करते हुए बताया कि महाराष्ट्र के छोटे से गांव और हिन्दी माध्यम से होने के बाद भी मैंने तीसरे प्रयास में यूपीएससी क्लियर किया, पिता बस कंडक्टर थे लेकिन सपना हमेशा था कुछ बड़ा करने का। अपने अनुभव शेयर करते हुए उन्होंने प्रतिभागियों को बताया कि कोचिंग उन विषयों की करिये जिसमें आप कमजोर हैं, अंग्रेजी बेसिक मिनिमम अंडरस्टैंडिंग तक आनी चाहिए, आपका एक कॅरियर बैकअप होना चाहिए जो सिलेबस आना है वह क्लियर होना चाहिए। उन्होंने कहा कि खुद का इवैल्युएशन जरूरी है, यह जरूरी नहीं कि आपको सबकुछ पता हो यह अहम है कि सबकुछ का थोड़ा थोड़ा आपको पता हो। थोड़े दोस्त रखो पर अच्छे रखो, मोटीवेट हमेशा रहो, अगर मैं आईएएस नहीं होता तो निश्चित ही डाॅक्टर होता। नगर निगम कमिश्नर सुश्री तन्वी हुडा, आईएएस ने अपनी आईएएस यात्रा का खाका खींचा और बताया कि इसके पूर्व वह हरियाणा पब्लिक सर्विस कमीशन में सेलेक्ट हो चुकी थीं और साढे तीन वर्ष वहाॅ कार्य करने के बाद वह सतना कमिश्नर के पद पर नियुक्त हुईं। उन्होंने बताया कि वह रोहतक से हैं, तैयारी के बारे में अपनी कहानी बताते हुए उन्होने कहा कि उनका आईएएस तीसरे प्रयास में क्लियर हुआ। प्रतिभागियों को 98 प्रतिशत कठिन मेहनत और 2 प्रतिशत भाग्य पर निर्भर रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि कई किताबें पढ़ने की जगह एक ही अच्छी किताब का 10 बार रिवीजन आपको विषयदक्ष बना सकता है। वह सादगी पसंद और कार्य ही पूजा है कि तर्ज पर कर्म करती है उन्होंने सलाह दी कि विषय सम्मत अध्ययन करें,दोस्तों का लिमिटेड सर्कल रखें, रायटिंग स्किल के साथ साफ्ट स्किल और कम्युनिकेशन स्किल को बेहतर बनाते रहें,मूलतः फोकस्ड रहें। कार्यक्रम में राजेश शाही एडीएम सतना जो इलाहाबाद से हैं उन्होंने बताया कि अगर आपकी रुचि है तो ही आगे बढ़ें, पहले रिअल इंट्रेस्ट पता करें, जिससे लक्ष्य आसान हो जाय। कविता की तर्ज पर उन्होंने कहा ज्ञान रहता नहीं है बंद किसी ताले में। उन्होंने बताया कि डेडीकेशन और फैमिली सपोर्ट बहुत जरूरी है। विश्वविद्यालय के प्रो चांसलर अनंत कुमार सोनी ने जीवन के अनुभव सुनाते हुए बताया कि दुनिया को एक फीसदी लोग लीड करते हैं वह लीडर होते हैं, समूचा विश्व सूचना की लहर पर सवार है अगर प्रतिभागी करो या मरो की पोजीशन रखेंगे तो सबकुछ हो सकता है उन्होंने कहा कि लक्ष्य अगर सामने है तो समस्यायें विलीन हो जायेंगी। कार्यक्रम के दौरान मैनेजमेंट विभागाध्यक्ष कौशिक मुखर्जी की मानव संसाधन प्रबंधन पर लिखी पुस्तक का अतिथियों ने विमोचन किया। अतिथि परिचय डाॅ.हर्षवर्धन ने तो कोर्स की जानकारी दी डाॅ विपिन व्योहार ने -कार्यक्रम में अतिथि परिचय विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति डाॅ. हर्षवर्धन ने दंते हुए बताया कि श्री अनुराग वर्मा बेहद सरल और मिलनसार और कर्तव्यनिष्ठ है जबकि सुश्री तन्वी हुडडा ने नगर निगम के कार्यो,स्मार्ट सिटी के कार्यो की समीक्षा में जो संजीदगी और कर्मठता दिखाई है इसी तरह हरियाली,सफाई और निर्माण कार्यों में जो मुकाम सतना को मिल रहा है वह बेहद प्रशंसनीय है।डाॅ.परीक्षित सुलझे हुए एडमिनिस्ट्रेटर है। कोर्सेस के डायरेक्टर यूपीएससी के पूर्व चेयरमैन डाॅ.पिपिन व्योहार,ने सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के कोर्स की जानकारी दी वि..वि.मे प्रारंभ प्रतियोगी परीक्षाओ की तेयारी पर उन्होने कहा कि विषय विशेषज्ञ स्टूडेन्टस को सभी विषयों का मार्गदर्शन देंगें।डाॅ.दिलीप तिवारी ने योगा के दोनो कोर्सेस की संक्षिप्त जानकारी अतिथियों के साथ साझा की। कोर्सेस का प्रबंधन विनय सिंह करेंगें। कार्यक्रम का संचालन लवली सिंह गहरवार और मोनू त्रिपाठी ने करते हुए अतिथियों को माँ सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्जवलन और माल्यार्पण के लिये आमंत्रित किया। बेसिक साइंस की छात्रा तुलसी त्रिपाठी ने सुमधुर सरस्वती वंदना ओर कार्यक्रम के अंत में जनगणमन से सभागार को मंत्रमुग्ध किया। कार्यक्रम के दोरान अतिथियों को स्मृति चिन्ह प्रदान करते हुए उन्हें धन्यवाद ज्ञापित किया गया। कार्यक्रम में वि.वि. के प्रतिकुलपति डाॅ.आर.एस.त्रिपाठी के साथ वि.वि. के सभी संकाय के डीन,डारेक्टर्स और फैकल्टी मेंम्बर्स उपस्थित रहे।

 

Hits: 40
0

b2ap3_thumbnail_b2ap3_thumbnail_charu_20220110-083829_1.jpgb2ap3_thumbnail_b2ap3_thumbnail_shivangee_20220110-083830_1.jpg

Under the guidance of Assistant Professor Dr. Ashwini A. Wau, working in the Department of Biotechnology, the Research Scholars of AKS University Charu Vyas and Shivangi Agnihotri presented a virtual paper at the 8th International Conference of ISPEK held at Vingol University, Turkey. The theme of the conference was Agriculture, Animal Sciences and Rural Development.  The topic of Research Scholar Charu Vyas was Microbial Consortium Medicated Approach for Restoration of Heavy Metal Contaminated Soil while the topic of Shivangi Agnihotri was Bioinoculants for Elevating Salinity Stress in Plants.  Be prophetic.  On their efforts, the Dean of Biotech Department, Prof. G.P.  Richaria and Head of the Department Dr.  Kamlesh Choure have given best wishes for excellent research work and progress in future.

Hits: 32
0

b2ap3_thumbnail_sudheer.jpgb2ap3_thumbnail_WhatsApp-Image-2022-01-05-at-17.14.13.jpg

एकेएस विश्वविद्यालय, सतना के समस्त संकायों में निरंतर Campus हो रहे हैं इसी क्रम में दो छात्रों का मेघालय Location के लिए चयन किया गया है छात्रों को गे्रजुएट training post offer की गई है दोनो छात्रों अनुज कुमार सिंह, बी.टेक मैकेनिकल इंजीनियरिंग 2020 बैच पसआउट और सुधीर कुमार चैधरी बी. टेक इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, विभागाध्यक्ष इंजी.रमा शुक्ला और मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभागाध्यक्ष डाॅ. पंकज श्रीवास्तव, Placement officer बालेन्द्र विश्वकर्मा ने लगन और मेहनत से कार्य करने की सलाह देते हुए Students के उज्जवल भविष्य की कामना की है।

Hits: 47
0

b2ap3_thumbnail_IMG-20210917-WA0025.jpg

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, इंदौर, विज्ञान भारती एवं म.प्र. काउंसिल आॅफ साइंस एण्ड टेक्नाॅलाॅजी के संयुक्त तत्वावधान में चार दिवसीय कार्यक्रम सफलतापूर्वक संपन्न हुआ। एकेएस वि.वि. सतना के बेसिक साइंस फैकल्टी लवली सिंह गहरवार ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान के चार दिवसीय सम्मेलन मे प्रतिनिधित्व करते हुए सिंथेसिस एण्ड कैरेक्टराइजेशन आॅफ मल्टी फेरोइक मैटेरियल फाॅर डिवाइज एप्लीकेशन पर रिसर्च पोस्टर प्रजेन्ट किया।उन्होंने एकेएस वि.वि. और अपने परिजनों का नाम रोशन किया है। विज्ञान सम्मेलन का उद्येश्य राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के परिपे्रक्ष्य में कौशल विकसित करना और मौलिक शोध को बढावा देना है।उल्लेखनीय है कि वि.वि. के छात्रों रविन्द्र पाण्डेय, सूरज सोनी, प्रिस कुमार, अनुराग शर्मा, शिवांक सिंह, जागृति कुशवाहा, रंजना कुशवाहा, पूजा पाण्डेय भी सम्मेलन में शामिल हुए। सम्म्ेालन में कुल 17संगोष्ठी, 3 काॅनक्लेव एवं विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन किया गया जिसमें 271रिसर्च पेपर,47 पोस्टर प्रजेन्टेशन एवं कई माॅडल प्रस्तुत किए गए। विज्ञान सम्मेलन में प्रदेश के कुल 676 एवं अन्य प्रदेशों से 272 प्रतिभागियों ने पंजीयन कराया। विज्ञान सम्म्ेालन का शुभारंभ मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश शिवराज सिंह चैहान के मुख्य आतिथ्य और सम्म्ेलन का समापन केन्द्रीय शिक्षा राज्यमंत्री डाॅ.सुभाष सरकार की उपस्थिति में हुआ।कार्यक्रम में प्रदेश के गणमान्य विभूतियों सर्वश्री ओम प्रकाश सकलेचा, डाॅ. अनिल काकोडकर, प्रो.दीपक बी. पाठक, डाॅ. शेखर श्री माण्डे, डाॅ.अनिल कोठारी, प्रो.नीलेश कुमार जैन, डाॅ. भरतशरण सिंह,,डाॅ प्रमोद वर्मा,मंत्री, उच्च शिक्षा मोहन यादव, प्रो. विजय पी.भाटकर, प्रो.सुधीर एस. भदौरिया, प्रो.रेणु जैन, प्रो.संतोष विश्वकर्मा जैसी विभूतियों ने विभिन्न चरणों में शिरकत की। वि.वि. के प्रोचांसलर अनंत कुमार सोनी, डीन बेसिक साइंस प्रो.आर.एन.त्रिपाठी, डाॅ.नीलेश राॅय,डाॅ.सी.पी.सिंह,लवली सिंह गहरवार,अ तुलदीप सोनी,गौरी रिछारिया, डाॅ.सुधा अग्रवाल, डाॅ.दिनेश मिश्रा और मनीष अग्रवाल,साकेत कुमार ने सभी प्रतिभागियों को बधाई दी है।

 

Hits: 46
0

b2ap3_thumbnail_cs-4.JPGb2ap3_thumbnail_cs111.JPGb2ap3_thumbnail_cs3_20220110-063059_1.JPGb2ap3_thumbnail_cs2_20220110-063103_1.JPGb2ap3_thumbnail_cs1_20220110-063108_1.JPG

एकेएस वि.वि. सतना के विवेकानंद प्रासार में Fresher's party Department of computer science And  Engineering.के सीनियर विद्यार्थियों ने जूनियर्स के लिए भव्य Fresher's party अरेंज की जो एक दूसरे से घुलने मिलने का बेहतरीन मंच बनी। पार्टी में एंकर्स ने Theme Best कार्यक्रम की जैसे ही घोषणा की तो सारा माहौल पार्टी के रंग में रंग गया। अवर फस्र्ट परफार्मेस जो लेकर आ रही हैं की एनाउंसमेंट और परफार्मर के लिए बजते गीतों ने मधुरता का ऐसा आलम रचा कि पूरा सभागार तालियों की गॅूच से सराबोर हो गया। मौशिकी ,गुलुकारी और नगमानिगारी के विविध रंग Fresher's party की खुशियों की लौ बने। उजाले उनकी यादों के गीत ने सभी को मुग्ध किया। पंजाबी ढोल की थाप पर कार्यक्रम को गति मिली जो सारे शहर में आप सा जैसे गीतों के साथ अंजाम तक पहॅुची। एंकर्स एक एक कर कलाकारों को आवाज देते रहे और फनकार अपने जलवों की नुमाइश करके सभागार को आल्हादित करते रहे। सेलिब्रिटी पेरोडी से कुछ जुदा रंग परोसे गए senior ने junior के लिए खास अंदाज में पूरा माहौल तय किया मौज,मस्ती और धूम के बाद मिस Department of computer science And  Engineering  के Mr. और Miss Fresher's चुने गए इन्हें रेड हैट एकेडमी की तरफ से कैप और पुरस्कार से भी नवाजा गया। वेहतरीन लजीज व्यंजन परोसे गए जिसके साथ सीनियर्स ओर जूनियर्स ने एक दूसरे का परिचय प्राप्त किया।

Hits: 32
0

b2ap3_thumbnail_charu.jpgb2ap3_thumbnail_shivangee.jpg

एकेएस वि.वि. सतना के Biotechnology विभाग में कार्यरत Assistant professor डाॅ.अश्विनी ए.वाऊ के मार्गदर्शन में वि.वि. की रिसर्च स्काॅलर्स चारु व्यास और शिवांगी अग्निहोंत्री ने विंगोल यूनिवर्सिटी, टर्की में संपन्न इस्पेक के आठवें International conference मे वर्चुअल Paper Paper किया conference का विषय एग्रीकल्चर,एनीमल साइंसेस और रुरल डेव्हलपमेंट रहा। research scholar चारु व्यास का विषय Microbial consortium Medicated approach For Restoration of heavy metal कंटैमिनेटेड साॅइल रहा जबकि शिवांगी अग्निहोत्री का विषय बायोइनोक्युलेन्टस फाॅर एलीविएटिंग सैलिनिटी स्ट्रेस इन प्लांटस रहा दोनों के पेपर काफी सराहे गए क्योंकि विषवस्तु के आधार पर दोनो रिसर्च स्काॅलर्स के paper presentation तथ्यात्मक और भविष्यात्मक रहे। उनके प्रयास पर बायोटेक विभाग के डीन प्रो.जी.पी.रिछारिया और विभागाध्यक्ष डाॅ.कमलेश चैरे ने भविष्य के शानदार रिसर्च वर्क और उन्नति के लिए शुभकामनाऐं प्रदान की हैं।

Hits: 34
0