Joomla Business Themes by Web Host

  • Home
    Home This is where you can find all the blog posts throughout the site.
  • Categories
    Categories Displays a list of categories from this blog.
  • Archives
    Archives Contains a list of blog posts that were created previously.
Recent blog posts

b2ap3_thumbnail_IMG-20200710-WA0011.jpg

एकेएस वि.वि. के Pharmacy विभाग में National Webinar
600 से ज्यादा प्रतिभागियों ने जाना Indian Pharmacopoeia के बारे में
सतना। एकेएस वि.वि. सतना के Department of Pharmaceutical Science and Technology में डाॅ. जयप्रकास ने Indian Pharmacopoeia के इतिहास, Year Wise Publication और Monographs के Development पर व्याख्यान दिया। उन्होने 600 से ज्यादा प्रतिभागियों को बताया कि Indian Pharmacopoeia महत्वपूर्ण संस्थान है। Pharmacy विभागाध्यक्ष डाॅ. सूर्यप्रकाश गुप्ता ने कार्यक्रम का संयोजन, Vote of Thanks सतेन्द्र गर्ग ने किया। कार्यक्रम के दौरान वि.वि. के प्रोचांसलर अनंत कुमार सोनी और प्रतिकुलपति डाॅ.हर्षवर्धन उपस्थित रहे। कार्यक्रम की सफलता पर वि.वि. प्रबंधन ने शुभकामनाऐं दी है।

Hits: 1
0

b2ap3_thumbnail_DSC_0414_20200709-113113_1.JPG

एकेएस वि.वि. के Computer Science में Global Quiz प्रतियोगिता
Linux Open Source Operating System पर जानकारी
सतना। एकेएस वि.वि. सतना के Department of Computer में Linux open source operating system पर प्रश्न पूॅछे गए। Global Quiz Competition में Red Hat Corporation के साथ उसके platform पर enabling technology with cloud technology पर प्रश्नों के उत्तर में उम्दा प्रतिभागियों को Goodies, पुरस्कार, और e-certificates Red Hat Corporation द्वारा प्रदान किए गए। 120 प्रतिभागियों में वि.वि. के विभिन्न संकाय के विद्यार्थी शामिल हुए जिनमें Engineering, Food Tech, Commerce और अन्य विभागों के विद्यार्थी शामिल हुए। कार्यक्रम के बारे में जानकारी Red Hat के Ambassador अभिजीत मिश्रा,हर्ष शर्मा जो एकेएस वि.वि.के B.Tech. CSE के विद्यार्थी हैं उन्होने दी।कार्यक्रम की सफलता पर वि.वि. प्रबंधन ने शुभकामनाऐं दी है। कार्यक्रम को डाॅ.अखिलेश बाउ,ने आयोजित किया।

Hits: 13
0

b2ap3_thumbnail_Screenshot_20200707_153534.jpgb2ap3_thumbnail_Screenshot_20200707_151737.jpgb2ap3_thumbnail_Screenshot_20200707_151628.jpgb2ap3_thumbnail_Screenshot_20200707_151236.jpg

एकेएस वि.वि. के Pharmacy विभाग में National Webinar 
500 से ज्यादा प्रतिभागियों ने online जाना innovation
सतना। एकेएस वि.वि. सतना के Department of Pharmaceutical Science and Technology में Transformation India through Nurturing Demand Driven Innovation कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें डाॅ. विपिन कुमार,Director, National Innovation Foundation, An Institution of Department of Technology ने 500 प्रतिभागियों को बताया कि innovation के लिए साधारण और सबसे प्रभावशाली user-friendly sustainable technology की जरुरत है। आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए इसमें local for vocal की जरुरत है। Covid-19 का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि जो चीजें अस्तित्व के लिए जरुरी है वह अपने आप नहीं आती हैं आवश्यकता आविष्कार की जननी है आज Masks, PPE kits और sanitizers market में उपलब्ध हैं। online बढे कार्यों और हो रहे कार्यो के बारे में व offline कार्यो की प्रक्रिया भी उन्होंने समझाई। Pharmacy विभागाध्यक्ष डाॅ. सूर्यप्रकाश गुप्ता ने कार्यक्रम का संयोजन, co-ordination प्रिया द्विवेदी ने और vote of thanks मि.इवनीत कौर ने किया। कार्यक्रम के दौरान वि.वि. के Pro-Chancellor प्रतिकुलपति डाॅ.हर्षवध्रन उपस्थित रहे। कार्यक्रम की सफलता पर वि.वि. प्रबंधन ने शुभकामनाऐं दी है।

Hits: 14
0

b2ap3_thumbnail_IMG-20200704-WA0005.jpg

एकेएस वि.वि. के Pharmacy विभाग में IPR पर National Webinar
Discovery के बाद patent firing अहम- पूजा विशाल मौलीकर
सतना। एकेएस वि.वि. सतना के Department of Pharmaceutical Science and Technology में Introduction to Intellectual Property Rights program कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें मि. पूजा विशाल मौलीकर, Examiner, of Patents, Rajiv Gandhi National Institute of Intellectual Property Rights of Management Government of India, Ministry of Commerce and Industry, Nagpur ने intellectual property rights पर जानकारी दी उन्होने intellectual property rights की जानकारी देते हुए कहा कि patent, copyrights और Trademark अलग-अलग दस्तावेज हैं इसमें 20 या अधिक वर्षो का अधिकार किसी भी खेाज,रिसर्च और जानकारी पर सरकार द्वारा मिलता है उन्होने कहा कि कोई भी discovery होने के बाद उसके लिए patent firing की जाती है उन्होने उसकी संपूर्ण प्रोसेस ओ कानूनी बाध्यताऐ भी शेयर कीं। online व offline प्र्िक्रया भी उन्होने समझाई। कार्यक्रम में प्रो.जी.पी.रिछारिया ने vote of thanks दिया। Pharmacy विभागाध्यक्ष डाॅ.सूर्यप्रकाश गुप्ता ने संयोजन और नेहा गोयल ने co-ordinated किया। प्रतियोगिता में भाग लेने वाले समस्त प्रतिस्पर्धियों को E-certificate प्रदान किया गया। कार्यक्रम के दोरान वि.वि. के प्रतिकुलपति डाॅ.हर्षवध्रन उपस्थित रहे। कार्यक्रम की सफलता पर वि.वि. प्रबंधन ने शुभकामनाऐं दी है।

Hits: 32
0

b2ap3_thumbnail_DSC_8572.JPGb2ap3_thumbnail_DSC_8570.JPGb2ap3_thumbnail_DSC_8569.JPG

एकेएस वि.वि. के Management विभाग में National Webinar 
आपका जीवन emotional intelligence से बदल सकता है-नेहा शर्मा
सतना। एकेएस वि.वि. सतना के Department of Management में आज के ज्वलंत विषय emotional intelligence पर एकदिवसीय वर्कशाॅप का आयोजन किया गया जिसमें नेहा शर्मा, Assistant Professor IITM, New Delhi, Certified NLP Practitioner ने समस्त भारतवर्ष से वेबिनाॅर में जुडे प्रतिभागियों को संबोधित किया उन्होने समझाया कि जीवन आती जाती छाया है, इसमें भावों का रंग है इसलिए यह इंद्रधनुषी रंगों से सराबोर है।सुबह से शाम तक हम आप कितने भावों से मिलते है और अलग-अलग प्रवृत्ति के मानवों से मिलते हैं कई बार गुस्सा,हॅसी,प्रेम,नफरत इत्यादि जैसे भाव आते हैं पर हम अपने भावों को परिस्थिति के अनुसार नियंत्रित करते है यानि emotion control किया जा सकता हैै और उन्हें सकारात्मक दिशा भी दी जा सकती है, जो हम सोचते हैं वैसे ही हम बनते हैं अगर आप कहें कि मै दुनिया का सबसे सफल व्यक्ति हूॅ तो प्रकृति आप पर मेहरबान होगी और आप लक्ष्य की तरफ सीधे प्रवृत्त हो जाऐंगें। जो आप महसूस करें, उसे सोचें, आप कौन हैं इस पर विचार करें आप जब भी महसूस करें कि कुछ सही नहीं हो रहा है तो फिर सोचें कि क्या जरुरी है। performance, physical health, mental health और realization पर कार्य करना जरुरी है। Self Awareness, Social Awareness, Self Management और Relationship Management को समझें और कार्य करें। इसी कार्यक्रम में विवि. के प्रोचांसलर अनंत कुमार सोनी ने चर्चा में कहा कि श्रीश्री रविशंकर जी की सुदर्शन क्रिया जिसमें साॅस लेने की सही तकनीक बताई गई है से उनके जीवन में भी बहुत सकारत्मक परिवर्तन हुए है,उन्होने कहा कि दुनिया एक रंगमंच है और आपका रोल तय है जो रोल मिले उसे संपूर्णता से जिएं और डूबकर जीवन का आनंद लें Management के विद्यार्थियों के लिए इस कार्यक्रम का महत्व भी उन्होने रेखांकित किया। अनंत सोनी ने बताया कि भगवान राम ने वनवास के बारह वर्ष चित्रकूट मे काटे जो सतना के करीब है ओर मैहर माॅ शारदा का ख्यात मंदिर भी पास में ही है। webinar के दौरान Management विभागाध्यक्ष कौशिक मुखर्जी ने संचालन किया और अतिथि का सवागत किया। webinar में Vote of thanks प्रकाश सेन, faculty management रहे। कार्यक्रम की सफलता पर वि.वि. प्रबंधन ने शुभकामनाऐं दी है।

Hits: 19
0

b2ap3_thumbnail_Deepti-mam-photo_20200704-100945_1.jpg

एकेएस वि.वि. के Pharmacy विभाग में International Webinar संपन्न
सतना। एकेएस वि.वि. सतना के Department of Pharmaceutical Science and Technology में High Performance Thin Layer Chromatography Theory, Instrumentation and Applications विषय पर अंतरराष्ट्रीय webinar संपन्न हुआ। इसमें नेपाॅल,इंडोनेशिया,पाकिस्तान के साथ अन्य देशों के Participation भी शामिल हुए। कार्यक्रम की स्पीकर डाॅ. दीप्ती जैन, Professor and Head School of Pharmaceutical Science and Tech,ने 1100 प्रतिभागियों के बीच व्याख्यान दिया, उन्होने बताया कि यह theory Pharmacy, Life Science, Biotech and Chemistry के क्षेत्र में अति उपयोगी है।High Performance Thin Layer Chromatography Theory, Instrumentation and Applications Pharmacy पर उन्होने तकनीकी व्याख्यान दिया। Pharmacy विभागाध्यक्ष डाॅ. सूर्यप्रकाश गुप्ता ने welcome note दिया और कार्यक्रम का संयोजन किया। पारस कोसे, Coordinator और अंकुर अग्रवाल, moderator रहे। कार्यक्रम की सफलता पर वि.वि. प्रबंधन ने शुभकामनाऐं दी है। कार्यक्रम में प्रो.जी.पी.रिछारिया ने vote of thanks दिया।

Hits: 30
0

b2ap3_thumbnail_Akhilesh-Ankita.jpgb2ap3_thumbnail_DSC_0414_20200704-094621_1.JPGb2ap3_thumbnail_Dr.-Amit-Bhagat-2.pngb2ap3_thumbnail_3.png

एकेएस वि.वि.के Computer Science विभाग में रोजगार की संभावनाओं पर एक दिवसीय webinar संपन्न
सतना। एकेएस वि.वि. सतना के Department of Computer Science and IT Department में एकदिवसीय National Webinar का आयोजन 30 जून को किया गया। इस मौके पर career opportunity in computer science and IT applications‘‘ पर चर्चा करते हुए वैश्विक और स्वदेश की computer field में उपलब्धियों ओर अनुसंधानों पर चर्चा हुई । covid-19 के दौर में डाॅ. अमित भगत, Expert, Manit Career Opportunity in Computer Science and IT Application‘‘पर उपस्थित प्रतिभागियों को रोजगार की नवीन स्थितियों से परिचित कराते हुए उन्हे self-motorized and self-regulated रहने के साथ ही अध्ययन मनन की भी सलाह दी उन्होने कहा कि अगर आप job के लिए प्रिपेयर रहोगेे तो आपको मौके मिलेगें पर आपको विश्व की तकनीकों पर जानकारी रखनी होगी। इस मौके पर चेयरमैन अनंत कुमार सोनी, डाॅ.सरोज शुक्ला,प्राचार्य गवर्नमेंट हायरसेकेन्डरी स्कूल,गोपालशरण सिंह चैहान,प्राचार्य गवर्नमेंट व्यंकट हायर सेकेन्डरी स्कूल,नं.1 के साथ विभागाध्यक्ष अखिलेश ए.बाउ, अंकिता शर्मा, Coordinator के साथ फैकल्टीज और सैकडों प्रतिभागी उपस्थित रहें।

Hits: 28
0

b2ap3_thumbnail_IMG_20200701_150205.jpgb2ap3_thumbnail_IMG_20200701_150220.jpgb2ap3_thumbnail_IMG_20200701_150254.jpgb2ap3_thumbnail_IMG-20200701-WA0015.jpgb2ap3_thumbnail_IMG_20200701_150239.jpg
एकेएस वि. वि. के भौतिकी विभाग अंतरराष्ट्रीय चार दिवसीय webinar का दूसरा दिन-चर्चा में शामिल हुए देश विदेश के प्रतिभागी

सतना। एकेएस विश्वविद्यालय, सतना के भौतिकी विज्ञान विभाग द्वारा आयोजित 4 दिवसीय webinar श्रंखला के दूसरे दिन अतिथि वक्ताओं का स्वागत वि.वि. के ओएसडी प्रो.आर.एन.त्रिपाठी ने किया। मुख्य व्याख्यान प्रो.आर.के.पाण्डेय, Michigan, Technological University, मिसीगन अमेरिका का रहा। उन्होंने अपना व्याख्यान Nano material Characterization and Applications पर दिया। डाॅ..एस.ए.आर.हासमी, CSIR, भोपाल ने polymer composites पर जानकारी दी। अंतरराष्ट्रीय चार दिवसीय webinar कार्यक्रम के special lectures में मि.योगेश विश्वकर्मा, Hindustan Aeronautics Limited, ने Theory of Three Folds and and Four Dimensional Universe पर अपना व्याख्यान दिया। विशेष व्याख्यानों की श्रंखला में expert talk डाॅ.वरुण सिंह, Dr. GSPG College ने rechargeable batteries पर ज्ञान साझा किया। डाॅ. अरविंद कुमार IIT Delhi, डाॅ.सुरेश कुमार महर्षि मारकंडेय यूनिवर्सिटी, हरियाणा ने Doping Effect on Physical Property of Nano Particles, पर व्याख्यान दिया। डाॅ.मंजु तिवारी ने अपना व्याख्यान Light Emitting Devices, For Display Application पर और डाॅ.सौरभ कुंज,रामजस काॅलेज दिल्ली ने अपना व्याख्यान Ferromagnetic Materials ओर उनके अनुप्रयोग पर दिया। कार्यक्रम के दौरान वि.वि. के प्रोचांसलर अनंत कुमार सोनी, और संचालन फिजिक्स विभागाध्यक्ष डाॅ.नीलेश राॅय और लवली सिंह गहरवार, मनीष अग्रवाल, चंद्र प्रकाश, साकेत कुमार ने किया। अंतरराष्ट्रीय चार दिवसीय webinar कार्यक्रम में देश विदेश के प्रतिभागी भी काॅफी संख्या में एकत्र हुए उनके सवालों के जवाब विद्यजनों ने दिए।

Hits: 28
0

b2ap3_thumbnail_AC_20200704-061328_1.png

ऐकेएस विश्वविद्यालय के कृषि विभाग द्वारा संचालित Webiner का चोथा दिन

ऐकेएस विश्वविद्यालय के कृषि विज्ञान विभाग द्वारा आयोजित 6 दिवसीय Webiner श्रंखला के चोथे दिन श्री आकाश चैरसिया ने multi-layer farming विषय पर अपना व्याख्यान प्रस्तुत किया। आकाश चोरसिया ने कहा, मेरा बचपन से सपना था कि बड़ा होकर डॉक्टर बनूंगा और लोगों का इलाज करूंगा लेकिन जैसे - जैसे मैं बड़ा हुआ मुझे समझ में आया कि ज्यादातर बीमारियां खराब खान - पान की वजह से होती हैं।इसकी वजह जाननी चाही तो पता चला कि लोगों को शुद्ध अनाज और सब्जियां खाने को नहीं मिल रही हैं जिसकी वजह से वो बीमार हो रहे हैं। आजकल किसान सब्जियों और अनाज में इतने कीटनाशक और रसायनिक उवर्रक इस्तेमाल करते हैं कि लोगों को इससे तमाम तरह की बीमारियां हो जाती हैं। मुझे लगा डॉक्टर बनकर इलाज करने से अच्छा है कि मैं खेती करके इन्हें शुद्ध भोजन उपलब्ध कराऊं जिससे ये बीमार ही न पड़ें और इलाज की नौबत ही न आए। ये तरीके अपनाते हैं आकाश जब आकाश किसानों से मिले तो किसानों ने अपनी कई तरह की समस्याएं बताईं। आकाश ने इन समस्याओं के के समाधान के लिए एक लम्बा शोध किया, जिससे किसानो की समस्याओं का समाधान किया जा सके। आकाश ने बताया, ष्मै एक साथ एक ही जमीन पर चार से पांच फसलें लेता हूं जिससे लागत और समय दोनों की बचत होती है और अच्छा मुनाफा होता है, क्योंकि एक फसल से दूसरे फसल को खाद मिलती रहती है, फसलों में खरपतवार नहीं होता है, कीड़े नहीं लगते हैं। आकाश कहते है खेत का पानी बरसात में बर्बाद न हो इसके लिए खेत में ही पानी रिचार्ज की सुविधा की। 10ध्10 का गढ्ढा खेत के लान वाली खोदतें हैं जिससे पूरा पानी इस गढ्ढे में आता है। इससे एक एकड़ खेत में आठ से 10 लाख लीटर पानी और दो ट्राली मिट्टी को बचाया जा सकता है। इस तरह किसान हजारों ट्राली मिट्टी बचाने के साथ ही करोड़ों लीटर पानी संरक्षित कर रहे हैं। उन्होंने कहा मै अपनी खेतों में मल्टीलेयर में खेती करता हु . मसलन- जमीन के नीचे अदरक लगता हु या ऐसी चीज जो जमीन के अंदर उगती है। उसके ऊपर सब्जियां लगाता हु जो जमीन के ऊपर उगती हैं जैसे बैंगन, गोबी. उसके ऊपर झाड़ लगाकर बेल की शक्ल में फलने वाली चीजें लगाता हु जैसे कुंदरी, पान. और चैथी लेयर है पपीते जैसे पेड़ की जो सीधे ऊपर चली जाती हैं. इन फसलों को उगाने के लिए खाद खेत में ही बनाते हैं. गायें पाल रखी हैं। उनके गोबर में रॉक फॉस्फेट मिलाकर केंचुए डाल देता हैं. केंचुओं को एक दर्जन क्लासिकल और इंस्ट्रुमेंटल संगीत सुनाते हैं जिससे केंचुए 60 दिन के बदले 45 दिन में वो खाद तैयार कर देते हैं जो डीएपी का काम करता है. इससे ज्यादा फसल होती है और पैदावार लंबे समय तक होती है। आज के webiner के सयोजक श्री सात्विक बिसारिया ने बताया कि आकाश ने अपने तीन एकड़ खेत को मॉडल फॉर्म के रूप में विकसित किया है। एक साथ चार से पांच फसल लेकर लागत चार से पांच गुना कम करने के साथ ही मुनाफा में भी पांच गुना इजाफा किया है। ये वर्मी कम्पोस्ट से लेकर सभी जैविक खादें, dairy form, multi layer food farming खुद ही करते हैं। हर महीने की 27 और 28 तारीख को पूरे देशभर के कई किसान इनके यहाँ निशुल्क प्रशिक्षण लेने आते हैं। देशभर में अब तक 50 से ज्यादा माडल फॉर्म बना चुके हैं। आकाश ने 42 हजार किसानों को प्रशिक्षण दिया जिसमे 33 हजार किसान और साढ़े सात हजार युवा इनके साथ जुड़े हैं। साढ़े छह हजार किसान और 250 युवा पूरी तरह से आकाश के बताये तौर तरीकों से 18 हजार एकड़ जमीन में खेती कर रहे हैं। श्रोताओ द्वारा श्री आकाश चैरसिया से कई विषय सम्बन्धी प्रश्न पूछे जिनमे इस माडल को कहा व कितने क्षेत्र में उपनाया जा सकता है, सिंचाई की कौन सी पद्यति अपनानी चाहिए व मर्केट से सम्बंधित प्रश्न महत्वपूर्ण रहे। श्री आकाश चैरसिया ने इन प्रश्नों का उत्तर बखूबी दिया साथ ही  multi layer के सेटअप व तरीको को भी प्रदर्शित किया।कार्यक्रम की शुरुआत सात्विक बिसारिया के द्वारा श्री आकाश चैरसिया के परिचय व श्रोताओ के स्वागत से किया। कार्यक्रम के अंत में विश्वविद्यालय के प्रो चंस्लर इं. अनंत कुमार सोनी ने धन्यवाद ज्ञापन किया। कार्यक्रम में प्रति कुलपति विकास डॉ. हर्षवर्धन, कृषि संकाय के अधिष्ठाता डॉ. एस. एस. तोमर उपस्थित रहे साथ ही आशुतोष गुप्ता, संतोष कुमार, पंकज कुमार व समस्त कृषि संकाय की फैकल्टी मौजूद रही।

Hits: 27
0

b2ap3_thumbnail_IMG-20200701-WA0007.jpgb2ap3_thumbnail_IMG-20200701-WA0009.jpgb2ap3_thumbnail_IMG-20200701-WA0010.jpgb2ap3_thumbnail_IMG-20200701-WA0006.jpgb2ap3_thumbnail_IMG-20200701-WA0008.jpg

ऐकेएस विश्वविद्यालय के कृषि विज्ञान विभाग द्वारा Webinar 
ऐकेएस विश्वविद्यालय के कृषि विज्ञान विभाग द्वारा आयोजित 6 दिवसीय Webinar श्रंखला के तीसरे दिन श्री सुभाष भाटिया ने कृषि वानिकी में बांस के वृक्षारोपण का भविष्य और वर्त्मान विषय पर अपना व्याख्यान प्रस्तुत किया।उन्होंने कहा आत्मनिर्भर भारत के लिए बांस के वृक्षारोपण को बढ़ाने के लिए तथा इससे रोजगार उत्पन्न करने की संभावनाए भारत में अत्यधिक है । उन्होंने बांस के प्रयोग को बताते हुए उससे बने उत्पादों जैसे पेपर, सौन्द्र्य प्रसाधन उत्पाद, कटलरी, अगरबत्ती स्टिक इत्यादि के विषय में बताया श्रोताओ द्वारा श्री भाटिया से कई विषय सम्बन्धी प्रश्न पूछे जिनमे बंसौत्पादन की खेती कैसे की जा सकती है, कहा की जा सकती है, इस खेती मे अत्यधिक लाभ कैसे प्राप्त किया जा सकता है व मार्केट से सम्बंधित प्रश्न महत्वपूर्ण रहे।श्री भाटिया ने इन प्रश्नों का उत्तर बखूबी दिया साथ ही बंसौत्पादन के सेटअप व तरीका भी प्रदर्शित किया।कार्यक्रम की शुरुआत डॉ. हर्षवर्धन, प्रतिकुलपति विकास के द्वारा श्रीअरविन्द धाकड़ के परिचय व श्रोताओ के स्वागत से किया।कार्यक्रम के अंत में विश्वविद्यालय के प्रोचांस्लर इं. अनंत कुमार सोनी ने धन्यवाद ज्ञापन किया।कार्यक्रम का संचालन श्री सात्विक सहाय बिसारिया ने किया कार्यक्रम में कृषि संकाय के अधिष्ठाता डॉ. एस. एस. तोमर उपस्थित रहे साथ ही आशुतोष गुप्ता, संतोष कुमार, पंकज कुमार व समस्त कृषिसंकाय की फैकल्टी मौजूद रही।

Hits: 27
0