Joomla Business Themes by Web Host

  • Home
    Home This is where you can find all the blog posts throughout the site.
  • Categories
    Categories Displays a list of categories from this blog.
  • Archives
    Archives Contains a list of blog posts that were created previously.
Recent blog posts

b2ap3_thumbnail_mahima-sharma-ca_20220103-102306_1.jpg

एकेएस विश्वविद्यालय, सतना के Department of computer science And Engineer की काबिल छात्रा महिमा शर्मा का चयन बतौर टेक्निकल सपोर्ट इंजीनियर मुम्बई की कंपनी ओएसथ्री के लिए किया गया है। उनका चयन इंटरव्यू के बाद हुआ और कंपनी द्वारा शार्ट टर्म यूजफुल एण्ड एडाॅप्टेबिलिटी of word trainng के बाद महिमा को डाटा सेंटर सल्यूशन, software Defined Storage, High abilities clusters visualizing solution IT facilities Management, IT Ragistar recovery and business continue, Red Hat Linux, सर्वर स्प्राल कंसोलिडेशन, Cloud computing, IT consultant, Infrastructure Management, software developer, सैप सल्यूशंस और एप्लीकेशन डिलिवरी सल्यूशंस के कार्य सीखने के समय के साथ इन सब कार्यो की जिम्मेदारी दी जाएगी। महिमा को अच्छे पैकेज पर नियुक्ति मिली है महिमा शर्मा एमसीए-2022 छात्रा के चयन पर वि.वि. के प्रोचांसलर अनंत कुमार सोनी, प्रतिकुलपति डाॅ. हर्षवर्धन,प्रो.आर.एस.त्रिपाठी,विभागाध्यक्ष डाॅ. अखिलेश ए.वाऊ के साथ कम्प्यूटर विभाग के फैकल्टीज ने छात्रा के उज्जवल भविष्य की शुभकामना दी है।

Hits: 34
0

b2ap3_thumbnail_nnabl2.jpgb2ap3_thumbnail_nnnabl3.jpgb2ap3_thumbnail_nabl1.jpg

एकेएस विश्वविद्यालय सतना के Cement technology बी.टेक, पांचवें सेमेस्टर एवं Diploma के छात्रों ने म.प्र. प्रदूषण नियंत्रण मंडल सतना की वाटर एवं एयर की एनएबीएल प्रयोगशाला की विजिट की। विजिट के दौरान क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण नियंत्रण मंडल सतना के.पी. सोनी ने छात्रों को सीमेन्ट प्लांट से होने वाले प्रदूषणों पर विस्तृत जानकारी देते हुए इनके कई नुकसानों से अवगत कराया। सीमेन्ट प्लांट में प्रदूषण एक जटिल समस्या है लेकिन इसके निवारण के लिये तकनीकी भी उपलब्ध है। श्री के.पी. सोनी ने विश्वविद्यालय के 21 छात्रों जिसमें विवेक मिश्रा, आदित्य कुमार, नवीन तिवारी, शिवांक पाठक, चंदन सिंह, अनूप पाण्डेय, सत्येन्द्र पटेल, सिद्धार्थ पटेल, पियूष सोनी, जुनैद, अभिषेक पाण्डेय, अमन गौतम, राहुल विश्वकर्मा, संदीप सिंह, आकाश गुप्ता, प्रभात कुशवाहा और प्रवीण सोनी को समस्त जानकारियां प्रैक्टिकल के माध्यम से दीं। प्रयोगशाला प्रभारी एवं वैज्ञानिक सी.एस. पटेल, डाॅ. राजकरण एवं राजकुमार मिश्रा ने परिवेशी वायु गुणवत्ता की मानीटरिंग एवं एनालिसिस कैसे की जाती है, पी एम 10 और पी एम 25 सैम्पलर गैस एनलाइजर के द्वारा समझाया। विद्यार्थियों को स्टैक माॅनीटरिंग एवं सैम्पलिंग का भी प्रजेंटेशन दिया गया। जल की सैम्पलिंग एवं उसके भौतिक एवं रासायनिक 14 पैरामीटर को अत्याधुनिक एनएबीएल( नेशनल एक्रीडिएशन बोर्ड फाॅर टेस्टिंग एण्ड कैलीब्रेशन लेबोरैटरीज लैब) में एनालिसिस करने की विधियों के बारे में एवं उपकरणों का डैमो करके भी दिखाया गया। छात्रों को पाॅलीथीन की थिकनेस, माइक्रोन के मायने, मोटर गाड़ियों से स्मोक का एनालिसिस, ध्वनि मापक यंत्र द्वारा ध्वनि प्रदूषण का मापन एवं स्टेण्डर्ड के बारे में भी वैज्ञानिकों एवं रसायनज्ञों द्वारा प्रयोग करके बताया गया। विजिट का सम्पूर्ण मार्गदर्शन डाॅ. महेन्द्र कुमार तिवारी, विभागाध्यक्ष पर्यावरण विज्ञान विभाग एवं रवि कुमार पाण्डेय, सहायक प्राध्यापक सीमेन्ट विभाग, इंजी. प्रभाकर तिवारी, इंजी. सुधाकर तिवारी ए.ई., सुमित चैरसिया ए.ई., प्रयोशाला प्रभारी का विशेष योगदान रहा।छात्रों के लिए विजिट सम्पूर्ण जानकारी पूर्ण रही।

Hits: 41
0

b2ap3_thumbnail_Cover_20220103-090746_1.jpg

एकेएस वि.वि. सतना के विभिन्न संकाय के छात्रों को नियमित रुप से कैम्पस के माध्यम से सेलेक्सन का मौका मिलता है इसी कडी में एकेएस विश्वविद्यालय, सतना के "department of Pharmacy" के तीन छात्रों आकिब एहसान ,जयकिशन द्विवेदी, निखिल जैसवाल का चयन साॅई कार्पोरेशन में हुआ है। उल्लेखनीय है कि साॅई कार्पेरेशन ,काला अंब, हिमांचल प्रदेश में कार्य कर रही बडी कंपनी में इन तीनों छात्रों का चयन बतौर ट्रेनी हुआ है। उन्हें अच्छी सैलरी पर नियुक्ति मिली है जो एक वर्ष बाद अच्छे पैकेज में तब्दील होगी। सभी तीनों छात्रों के चयन पर वि.वि. के प्रोचांसलर अनंत कुमार सोनी, प्रतिकुलपति डाॅ.हर्षवर्धन, प्रो.आर.एस.त्रिपाठी,विभागाध्यक्ष डाॅ.सूर्यप्रकाश गुप्ता, टीपीओ एम. के. पाण्डेय और विनय सिंह ने उज्जवल भविष्य की शुभकामना दी है।

 

Hits: 37
0

b2ap3_thumbnail_anu-management_20220103-074321_1.jpg

Anurag Singh Parihar, Faculty of Management, AKS University Satna, has been given a place on its special page by an International Journal. His research paper on "Return on Investment in Education" has received a lot of appreciation.  The research content has managed to get a place in the tenth and eleventh issue of the Journal.  Dr. Kaushik Mukherjee, HOD, On this achievement has expressed  happiness  and congratulated him and the family.

Hits: 34
0

b2ap3_thumbnail_b2ap3_thumbnail_gl1_20211231-064247_1.jpgb2ap3_thumbnail_b2ap3_thumbnail_gl2_20211231-064320_1.jpg

Under the International Guest Lecture Series, two expert guest lectures were organized in the Department of Pharmacy of AKS University, Satna Dr.  Satyam Tripathi, while giving information on 'Respiratory Order and Impact of Covid-19 on Current Scenario Including Post covid Situation, said that in general, infection of covid-19 along with lung and respiratory system causes problems.  In which bronchitis swells and there is a burning sensation in it. There is also more production of mucus in it, due to which phlegm is formed.  There are two types of bronchitis, acute and chronic. Acute gets better in two to three weeks while chronic lasts longer.  Pneumonia causes the air sac in both lungs to swell, pus can fill in it, this weakens the immune system.  While laryngitis prevents food and fluid from entering the lungs, the common cold is an infection of the nose and throat that heals in 7 to 10 days, a sore throat caused by a virus infection called pharyngitis.  In the changing season, diseases related to the respiratory system start gaining momentum.  To avoid this, we have to take care from food to cleanliness.  He highlighted the impact of COVID-19 from its past form to the present in all its forms, from Covid Delta to Omicron.  He also told about their causes and methods of treatment.  In the second lecture of the guest lecture, Dr.  Amit Singh, Associate Professor Swami Vivekananda Yoga Research Institute, Bangalore gave important information.  He said that yoga is our ancient method, while doing yoga, it has to be kept in mind that what is the health problem from which water is the solution.  Important in yoga are pranayama called breathing exercises, asanas called physical postures, meditation which includes relaxation and mindfulness.  Effective results can be achieved through yoga not only in diabetes but also in many other diseases.  He said that some yogas are also forbidden in many diseases, they should be done only under the guidance of a qualified yoga teacher.  Senior officials of the university were present during the program.  At the end of the program, both the lecturers were honored with shawls, quince and moments.  On this occasion Pro  Chancellor Anant Kumar Soni, Per-Vice Chancellor Prof.  R .  S .  Tripathi, Prof.  Ramesh Chandra Tripathi, Department of Forestry, Prof.  GC Mishra, and Head of Pharmacy Dr.  Suryaprakash Gupta's presence was noteworthy.

Hits: 36
0

b2ap3_thumbnail_anu-management.jpg

एकेएस वि.वि. सतना के मैनेजमेंट संकाय के फैकल्टी अनुराग सिंह परिहार को International Journal ने अपने विशेष पेज पर जगह दी है उन्हें उनके द्वारा लिखे गए शोध पत्र शिक्षा क्षेत्र में निवेश पर रिटर्न पर बडी सराहना मिली है उनका शोध पत्र International  Journal of Science Technology खंड संख्या दस और ग्यारहवें अंक में स्थान पाने में सफल रहा है। उनकी इस उपलब्धि पर वि.वि. परिवार और विभागाध्यक्ष डाॅ.कौशिक मुखर्जी ने उन्हें बधाई देते हुए हर्ष व्यक्त किया है।

Hits: 31
0

b2ap3_thumbnail_gl1_20211231-064247_1.JPGb2ap3_thumbnail_gl2_20211231-064320_1.JPG

सरस्वती आराधना की आध्यात्मिक लौ, वैदिक मंत्रोच्चारों के बाद देवार्चन और फिर अतिथि परिचय के प्श्चात एकेएस वि.वि. सतना के department of pharmacy में international and guest lecture सिरीज के तहत expert दो guest lecture का आयोजन किया गया जिसमें यूनियन आयुर्वेदा योगा के डाॅ. सत्यम त्रिपाठी ने ‘Respiratory disorders and Impact on कोविड-19 on current  सिनेरियो including Post  covid stitution पर जानकारी देते हुए बताया कि सामान्यतः फेफडे और श्वशन तंत्र के साथ ही कोविड -19 के संक्रमण से समस्या आती है। जिसमें ब्रोंकाइटिस सूज जाती है और उसमें जलन होती है, इसमें म्यूकश का निर्माण भी अधिक होता है जिससे कफ बनता है। ब्रोंकाइटिश दो प्रकार का होता है एक्यूट और क्रोनिक, एक्यूट दो से तीन सप्ताह में ठीक हो जाता है जबकि क्रोनिक लम्बे समय तक रहता है। निमोनिया से दोनों फेफड़ों में एयर सेक सूज जाते हैं, इसमें पस भर सकता है इससे इम्यून सिस्टम कमजोर होता है जबकि लेरिंजाइटिस में भोजन और तरल पदार्थ फेफड़े में जाने से रुकते हैं, काॅमन कोल्ड नाक और गले का संक्रमण होता है जो 7 से 10 दिनों में ठीक होता है,गले की खरास वायरस के संक्रमण के कारण होती है इसे फेरिनजाइटिस कहते हैं। बदलते मौसम में श्वसन तंत्र से जुड़ी बीमारियां जोर पकड़ने लगती हैं इससे बचने के लिये हमें खान-पान से लेकर सफाई तक का ध्यान रखना पड़ता है। उन्होंने कोविड-19 के अतीत के स्वरूप से लेकर वर्तमान के सभी प्रकारों मसलन कोविड,डेल्टा से ओमिक्रान तक के इफेक्ट पर प्रकाश डाला। इनके कारण,निवारण और उपचार के तरीके भी उन्होने बताए। गेस्ट लेक्चर के दूसरे व्याख्यान में Role of Yoga थेरेपी इन डायबिटीज मैलाइटिस दो के बारे में डाॅ. अमित सिंह, एसोसिएट प्रोफेसर स्वामी विवेकानन्द योगा अनुसंधान समसंस्थान, बैगलुरू ने अहम जानकारियां दीं। उन्होंने कहा कि योग हमारी प्राचीन पद्धति है, योग करते समय ये ध्यान रखना है कि कौन सी स्वास्थ्यगत समस्या है जिससे निजात पानी है। योग में महत्वपूर्ण रूप से प्राणायाम जिसे ब्रीदिंग एक्सरसाइज कहते हैं, आसन जिसे फिजिकल पाॅस्चर कहते हैं, Meditation जिसमें Relaxion और माइंड फुलनेस शामिल है। योग के माध्यम से न सिर्फ डायबिटीज बल्कि अन्य कई रोगों में भी असरकारक परिणाम हासिल किये जा सकते हैं। उन्होने कहा कि कुछ योगा भी कई रोगों में वर्जित हैं इन्हें किसी योग्य योग शिक्षक के मार्गदर्शन में ही करना चाहिए। कार्यक्रम के दौरान विश्वविद्यालय के वरिष्ठजन उपस्थित रहे। कार्यक्रम के अंत के पलों में दोनों व्याख्यान कर्ताओं को शाल, श्रीफल और मोंमेंन्टों देकर सम्मनित किया गया। इस मौके पर एकेएस वि.वि. के प्रो. चांसलर अनंत कुमार सोनी, प्रतिकुलपति प्रो.आर.एस.त्रिपाठी,प्रो.रमेश चंद्र त्रिपाठी, department of forestry,प्रो.जी.सी.मिश्रा, विभागाध्यक्ष फार्मेसी डाॅ. सूर्यप्रकाश गुप्ता की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

Hits: 33
0

b2ap3_thumbnail_india-mart-1.jpgb2ap3_thumbnail_india-mart-2.JPG

एकेएस वि.वि. सतना के विभिन्न संकाय के छात्रों को कोविड-19 के पूर्व और उसके बाद भी नियमित रुप से online और Offline campus के माध्यम से selection का मौका मिलता रहा है इसी कडी में दिसंबर में कई Campus आयोजित हुए और चयनित छात्रों को खुशी दे गए अगर बात करें चार दिसंबर को हुए campus की तो उसमें एकेएस विश्वविद्यालय, सतना के "Department of management" के बीस छात्र अलग अलग पदों और कार्यो के लिए अपना selection करवाने में कामयाब रहे इसमें छः छात्र हिमांशु गर्ग, सौरव शुक्ला, बालेन्द्र अहिरवार, अनुराग सिंह, अमन सिंह, कपीश्वर गौतम का चयन बतौर क्लाइंट सर्विस डिवीजन पद पर हुआ है, इनका चयन चार लाख पर एनम के Package पर अहमदाबाद रीजन के लिए हुआ है इन्हें कस्टमर काॅल और विजिट के कार्य प्रदान किए जाऐगें। बारह छात्र साकिब सिद्विकी, अनिल कुमार बौद्व, रावेन्द्र शर्मा, विमल गर्ग, अश्विनी कुमार पाण्डेय, मोहन सिंह, धर्मेश समदरिया, अतुल मिश्रा, पीयूश त्रिपाठी, मानवेन्द्र सिंह, सौरव गुप्ता और आयुश त्रिपाठी का चयन बतौर न्यू सेल्स डिवीजन में कार्य के लिए तीन लाख तीस हजार पर एनम के पैकेज पर हुआ है। त्ृतीय श्रेणी में दो छात्राऐं ज्योति तिवारी और श्रुति जैन बतौर बिजनेश डेव्हलपर चयनित हुई हैं इन्हें जूम मीटिंग और गूगल मीट पर office job हेतु तीन लाख पर एनम के पैकेज पर नियुक्ति मिली है। छात्रों का चयन इंटरव्यू और ग्रुप डिस्कशन के बाद हुआ है। उन्हें जाॅचा, परखा और चयनित किया गया उल्लेखनीय है कि इंडिया मार्ट, गुजरात, इंडियाज online Largest Market Place कवर करने वाली कंपनी है। सभी बीसों छात्रों के चयन पर वि.वि. के प्रोचांसलर अनंत कुमार सोनी, प्रतिकुलपति डाॅ. हर्षवर्धन, प्रो. आर. एस. त्रिपाठी, विभागाध्यक्ष मैनेजमेंट डाॅ. कौशिक मुखजी, टी.पी.ओ. एम. के. पाण्डेय और मनोज सिंह परिहार ने चयनित छात्रों को चयन की शुभकामनाऐं प्रदान करते हुए हर्ष व्यक्त किया है। चयनित विद्यार्थियों को मेहनत और लगन से कार्य करके अपना भविष्य सुरक्षित रखने और निरंतर विकास करने की शुभकामनाऐं दीं हैं। छात्रों के लिए यह सपनों के सच होने जैसा है इंडिया मार्ट में चयनित हुए छात्रों ने अपने चयन का श्रेय एकेएस वि.वि. की पठनपाठन प्रणाली और अपने गुरुओं के मार्गदर्शन के साथ परिजनों के आशीर्वचनों को दिया है।

 

 

Hits: 29
0

b2ap3_thumbnail_b2ap3_thumbnail_mou_20220103-064226_1.jpg

During a simple but dignified ceremony in the auditorium of AKS University Satna, a Memorandum of Understanding was signed between the Union Yoga Ayurveda, and the Pharmacy Department of the University on various issues.  Through MoU, student training, patient care, yogaclass transfer, simultaneous organization of international conferences, workshops, organizing various programs and promoting co-working activities are prominent.  During the MoU, the representative of the Department of Pharmaceutical Sciences and Technology, Dr. Satyam Tripathi, Union Ayurveda Yoga, Singapore, Pro Chancellor Anant Kumar Soni, Per-Vice Chancellor Prof.  R .  S .  Tripathi, Director of Cement Technology Prof. G .  C .  Mishra, Head of Department Pharmacy Dr.  Suryaprakash Gupta and Head of the Department of Yoga, Dr.  Dilip Tiwari were remarkably present.  It is noteworthy that  even before this, the MoUs with many institutions across the country and abroad have taken place. This has led to organisations and participation in many programs by the  faculty and students of different faculties of the University.

Hits: 33
0

b2ap3_thumbnail_mou.JPG

एकेएस विश्वविद्यालय सतना के सभागार में एक सादे किन्तु गरिमामय समारोह के दौरान यूनियन योगा आयुर्वेदा,और विश्वविद्यालय के फार्मेसी विभाग के बीच विभिन्न मुद्दों पर सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किये गये। सहमति पत्र के माध्यम से students training, पेसेंट केयर एण्ड योगा क्लास ट्रांसफर, अंतर्राष्ट्रीय कांफ्रेंस एवं वर्कशाप का एक साथ आयोजन ,विविध कार्यक्रमों का आयोजन और coworking Activites को बढ़ावा देना प्रमुख है। एमओयू के दौरान department of Pharmaceuticals science and technology और यूनियन आयुर्वेदा योगा,सिंगापुर के प्रतिनिधि डाॅ. सत्यम त्रिपाठी सिंगापुर और एकेएस वि.वि. के प्रो. चांसलर अनंत कुमार सोनी और प्रतिकुलपति प्रो.आर.एस.त्रिपाठी,cement technology के डायरेक्टर प्रो.जी.सी.मिश्रा, विभागाध्यक्ष फार्मेसी डाॅ. सूर्यप्रकाश गुप्ता और department of yoga के विभागाध्यक्ष डाॅ. दिलीप तिवारी उपस्थित रहे। उल्लेखनीय है कि वि.वि. का इससे पूर्व भी विश्व के कुछ देशों के साथ भारत के कई संस्थानों से एमओयू है जिसमें कई विभागों में पूर्व से ही कई कार्यक्रम और आयोजन हो चुके हैं।

Hits: 36
0