Joomla Business Themes by Web Host

  • Home
    Home This is where you can find all the blog posts throughout the site.
  • Categories
    Categories Displays a list of categories from this blog.
  • Archives
    Archives Contains a list of blog posts that were created previously.
Recent blog posts

b2ap3_thumbnail_IMG_20211201_144328_HDR.jpgb2ap3_thumbnail_IMG_20211201_143119_HDR.jpgb2ap3_thumbnail_IMG-20211201-WA0106.jpg

एकेएस वि.वि. सतना की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाइयों के संयुक्त तत्वावधान में एड्स जागरुकता रैली का आयोजन किया गया जिसमें छात्र-छात्राओं ने पोस्टर प्रतियोगिता में भी भाग लिया पास्टर हाथेां में लिए उस पर कई समाजोपयोगी स्लोगन लिखकर इन्हें लोगों तक पहुॅचाया गया। इस रैली के माध्यम से एक्वायर्ड इम्युनों डिफिसिएन्सी सिन्ड्रोम यानी एड्स के कारण, निवारण और दवाइयो ंपर भी जानकारी शेयर की गई। रैली का आयोजन एनएसएस कोआर्डिनेटर इंजी.रमा शुक्ला एवं डाॅ. महेन्द्र कुमार तिवारी के मार्गदर्शन में किया गया। कैप्टन आर.एस.परिहार और कैप्टन प्राची सिंह परिहार ने अनुशासन एवं सेवा का महत्व निरुपित किया। रैली के अंत में वि.वि. के प्रोचांसलर अनंत कुमार सोनी ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि आप सभी मिलकर समाज में कई कार्य कर सकते हैं क्योंिकि एनएसएस का कार्य साक्षरता कार्य,पर्यावरण संरक्षण,स्वास्थ्य और सफाई आपातकालीन या प्राकृतिक आपदा के समय पीडितो की सहायता करना होता है। डीन बेसिक साइंस डाॅ.जी.पी.रिछारिया ने एनएसएस का महत्व बताते हुए इसे सेवा का एक महत्वपूर्ण माध्यम बताया और कहा कि एनएसएस मीन्स नाॅट मी बट यू होता है यह इसी सिद्वांत पर कार्य करता है।

Hits: 64
0

b2ap3_thumbnail_pharmacy1_20211231-053913_1.jpgb2ap3_thumbnail_IMG-20211201-WA0050.jpgb2ap3_thumbnail_pharmacy-2.jpg

एक पल में जाने कब किस्सा हो जाता है, जाने कौन कब जिंदगी का हिस्सा बन जाता है ये रंग और नूर रहा एकेएस विश्वविद्यालय के  Department of pharmacy  में कला के विविध रंगों के साथ फ्रेशर्स पार्टी का जो कलारंग सबके सर चढ़कर बोला। एंकर्स आदर्श और नेहा ने कला वीथिका के पहले चरण की पतवार सम्हाली तो दूसरा चरण अखण्ड आनन्द और अभिषेक के नाम रहा। तीसरे चरण में साहिब सिद्दीकी ने खूब रंग जमाया। आदर्श, यश, सिमरन, ध्रुव, दिव्यांशी, ऐशा, नंदिनी, ज्योत्सना, आदर्श, आकांक्षा, आशुतोष, शशांक, रोशनी, सिमरन, विकास, राजलक्ष्मी, भारती, कल्याण, शेफाली, पुष्पेन्द्र, हिमांशु, श्वेता, नम्रता, शिवानी, नेहा, प्रणीत, अंकित, दिव्याश, निखिल, रूपा, दामिनी, अंजलि, दीपांशी ने कला के विविध रंगों को मंच में माध्यम से खूबसूरत एहसास में तब्दील किया। दर्शकदीर्घा में उपस्थित लोगों ने इन्हें गौर से निहारा और कलाकारों की हुनरमंदी की दाद दी। नृत्य मंे जहां बहुरंगी छटा बिखरी, वहीं गीत गायन में सुरों के लम्बे फन जमे, ड्रामा में सभी इमोशन्स की खूबसूरत तस्वीर बनी तो अन्य कार्यक्रमों ने भी खूब दाद बटोरी। नृत्य के कार्यक्रम के दौरान, सभी के पांव थिरकते रहे तो गीतों में कोरस भी खूब हुआ। वन्स मोर वन्स मोर का शोर सभी कार्यक्रमों के लिये गूंजा। कार्यक्रम का शुभारंभ अक्षत के चावल, पूजा के विविध पुष्प और देव आराधना के साथ हुआ। उपस्थितजनों की तालियों की गड़गड़ाहट के बीच सभी कार्यक्रमों ने आकाशीय ऊंचाइयां हासिल कीं। बी. फार्मेसी और डी. फार्मेंसी के सभी प्राध्यापक, विभागाध्यक्ष डाॅ. सूर्यप्रकाश गुप्ता, डाॅ. मधु गुप्ता, प्रभाकर तिवारी, पारस कोसे, नेहा गोयल, प्रिया द्विवेदी, इवनीत कौर भाटिया, दुर्गेश गुप्ता, पूनम द्विवेदी, विवेक चन्द्राकर, मनोज द्विवेदी, सुमित पाण्डेय, शिवम् अग्निहोत्री, रिंकी, शिखा, रैना की उपस्थिति में कार्यक्रम संपन्न हुआ। कार्यक्रम के विजेता प्रतिभागियों को नई सोच, नई ऊर्जा के साथ एक नये मचं पर सम्मानित करने का वादा देकर फ्रेशर्स पार्टी के अंत में नायक वो जो उम्मीदों के पार उतर जाय, आजादी जो दिल में बसकर रार मिटा जाय, जोश वही जो छत बन जाय बादल फटने पर, मकसद वो जो सबको दरिया पार करा जाय, जुनूं जगे तो वतन तरक्की के पथ पर होगा, धूप सा जज्बा मन का सब अंधियारा खा जाय के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया। कार्यक्रम के अंत में यादों की बारात बनी रहे इस बावत् मंच पर टीचर्स ने अपने स्टूडेंट्स के साथ स्नैप क्लिक कराये और मौके को यादगार बनाया स्टूडेन्टस ने सेल्फी के यादगार लम्हे एक दूसरे से साझा किए।

Hits: 38
0

b2ap3_thumbnail_management.jpg

प्रबंधन अध्ययन संकाय एकेएस विश्वविद्यालय सतना और लिंकन युनिवर्सिटी कालेज मलेशिया के सहयोग से व्यापार और उद्यमिता उद्यमों में हाल के रुझानों पर चैथा अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित किया गया। सम्मेलन का मुख्य विषय तकनीकी दुनिया को बदलने में व्यवसाय अनुसंधान की भूमिका है। सम्मेलन वर्चुअल मोड में 27 और 28 नवम्बर 2021 को आयोजित हुआ। सम्मेलन में 150 से अधिक शोध पत्र प्रकाशित हो चुके हैं और विभिन्न देशों द्वारा 65 से अधिक शोधपत्र प्रस्तुत किये गये हैं। मनीष कुमार सिन्हा ने डाॅ. कौशिक मुखर्जी के मार्गदर्शन में और यश शर्मा ने डाॅ. हर्षवर्धन श्रीवास्तव के मार्गदर्शन में मैनेजमेंट के शोधपत्र प्रस्तुत किये। सम्मेलन में इसे सर्वश्रेष्ठ शोधपत्र प्रस्तुति निरूपित किया गया। सम्मेलन का आयोजन प्रो. संदीप पोद्दार, प्रो. वाइस चांसलर लिंकन युनिवर्सिटी कालेज मलेशिया और डाॅ. कौशिक मुखर्जी, मैनेजमेंट विभागाध्यक्ष, प्रो. अभिजीत घोष, डीन, प्रबंधन अध्ययन संकाय के साथ किया गया। प्रो. अमियो भौमिक, कुलपति भी दो दिवसीय सम्मेलन में उपस्थित रहे। एकेएस विश्वविद्यालय के प्रो चांसलर अनंत कुमार सोनी ने उद्यमिता अवधारणाओं के बारे में विस्तार से बात की और एकेएस विश्वविद्यालय के चांसलर माननीय बी.पी. सोनी जी की विश्व सरकार की अवधारणाओं पर प्रकाश डाला। सम्मेलन के दूसरे दिन एकेएस विश्वविद्यालय के डाॅ. कौशिक मुखर्जी, डाॅ. यमना रानी के साथ अध्यक्षीय मंच पर थे, पूरे अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन को बड़ी सफलता मिली।सम्मेलन में 100 से ज्यादा देशों के लोग जुडे।

Hits: 32
0

b2ap3_thumbnail_ncc_20211230-154055_1.JPG

NCC Day was celebrated by the cadets in the premise of AKS University Satna. Addressing on the occasion of the 71st anniversary of National Cadet Corps, it was informed that it comprises Navy, Army and Air Wings which are involved in grooming the youth of the country into a disciplined and patriotic citizens.  Addressing the program, the Vice Chancellor of the University, Dr.  Harsh Vardhan said that NCC is a volunteer organization.  The youth studying in schools  and colleges can join it as per their wish.  NCC cadets are called the youth wing of the country's army.  Engineering Administrator Engg.  R .  K .  Shrivastava referred to the war with Pakistan in 1965 and 1971, when NCC cadets were sent to ordnance factories so that they could help in sending arms and ammunition to the soldiers who were fighting on the front.  Along with this, they were also used as patrolling parties to capture the enemy's paratroopers.  The special thing is that the Prime Minister of the country Narendra Modi has also been an NCC cadet.  Prof. G.C.  Mishra advised students to join NCC. He said, "you are the first and it is a mandatory condition to be an Indian citizen.  Along with this, it is necessary for the students to be mentally and physically fit.  TPO,  M.  K .  Pandey described the NCC as an organization to encourage students to join the army during school time.  In the next sequence, the Head of Management Department, Dr.  Kaushik Mukherjee told from his experiences while in the army that NCC is for both boys and girls.  There is Junior Wing and Senior Wing for Girls and Junior and senior Division for Boys.  Lieutenant Prachi Singh explained the rules of unity of duty and discipline and informed that the certification in NCC is given.  A certificate to junior cadets who complete two years of training, B certificate to senior students after completing two years of training.  While NCC C certificate is given to those students who complete three years of training.  Mirza Samiulla Baig told the forum that the minimum age to join NCC is 12 years and the maximum age is 26 years.  Pro .  Rajiv Bairagi said for the establishment point that the NCC was started on 15 July 1948 under the National Cadet Corps Act. The  NCC was the second line of defense in the wars against Pakistan.  At the end of the program, it was told that the NCC Day celebration gives a sense of national dignity. In the ongoing vaccination campaign against covid-19 in the country, the youth who are seen in Army Uniform at the Vaccine Centers are part of NCC.  During the program cultural programs were presented and the rationale of NCC Day celebration was also explained by the participants.

Hits: 36
0

b2ap3_thumbnail_msw_20211230-153714_1.jpg

Violence should be eradicated from society with sensitivity, humanity, compassion, positivity and we should become a part of civilized society. We should be aware of our moral duties and rights. Under the guidance of Manju Chatterjee, Head of MSW Department of AKS University, Satna,  Sudhir Pathak, Indira Soni and Maneka Soni, three students of Department of MSW ensured their participation in the three day workshop organized by National Institute Sama Sanstha Delhi on 23rd, 24th and 25th November in Bhopal.  In the workshop, there was a detailed discussion on the nature of gender based violence.  Reena ji, advocate and social worker threw light on various aspects while discussing in detail that most of the violence took place with men and women in the society.  There was an increase in violence in the time of corana. She also discussed the reasons for what positive and negative elements were associated in the families besides, discussion on prevention of violence also took place.  Violence continues  in the society. However, there has been a change in its nature after Covid-19 and the discussions were invited on this. The seriousness of the police administration and the consequences of negligence were discussed in the workshop.  Amidst the increasing interference of the media, what changes are being visible and what is the responsibility of the society and why the society is changing,  was followed by a deep discussion.  Posco Act-2012, Women's Violence and Domestic Violence Protection Act, 2005, Criminal Law Amendment Act 2013, guidelines of the Human Rights Commission, along with discussions on the guidelines of the Women's Commission were invited. The audiences were urged to know the provisions of the laws in this regard.  This workshop was very important for the career of the students. Pratibha Singh, Trainer, shared information with many facts.  "What is true other than what is seen" the discussion, underlined the role of police administration, media and society. Manju Chatterjee's poem recitation, " Jindagi ke Seelan mein Deemak Bano" was appreciated by all in the auditorium.

Hits: 28
0

b2ap3_thumbnail_aks-university-aksu-satna_20211230-132209_1.jpg.

Shubham Chaurasia, a student of the Department of Computer Science and Engineering, AKS University, Satna, has been selected as a software engineer in Rostris Infotech Indore, on a regular basis, through the campus. He will  work a year on probation.  His job profile includes Python code, debugging applications, integrating user facing elements, design, developing and analyzing user requirements, writing and testing code, research, design, operational documentation, client consulting and maintenance.  He has got appointment on a good salary package which will translate into a good package after a year.  On the selection of Shubham,  Anant Kumar Soni, Pro-Chancellor, Dr.  Harsh Vardhan, Prof. R.S.  Tripathi, Head of the Department Dr.  Akhilesh A.  Waoo and the faculties of Computer Department have wished Shubham a bright future.

Hits: 37
0

b2ap3_thumbnail_evisit.JPG

शिक्षार्थ आइए, ज्ञानार्थ जाइए के ध्येय वाक्य पर एकेएस विश्वविद्यालय,सतना में आए विद्यार्थियों को कॅरियर काउंसिलिंग प्रदान की गई। वि.वि. में प्रतिवर्ष छात्र-छात्राओं के लिए निःशुल्क कॅरियर काउंसिलिंग आयोजित की जाती है इसी कडी में एकेएसयू वि.वि. की एज्यूकेशनल विजिट पर गवर्नमेंट हायर सेकेन्डरी स्कूल, रामपुर बाघेलान से अरविंद तिवारी ,राकेश कुमार त्रिपाठी, गवर्नमेंट हायर सेकेन्डरी स्कूल शिवराजपुर से रविप्रकाश जी और दीपा पटेल गवर्नमेंट हायर सेकेन्डरी स्कूल, भटनवारा से विकाश चतुर्वेदी, विजय विश्वकर्मा नीतू आहूजा और नीलम पटेल के साथ छात्र-छात्राऐं शामिल हुए। विद्यार्थी अपने प्राध्यापकों के साथ कम्प्यूटर फील्ड और गणित की विविधता और रोजगार की संभावनाओं के बारे में जानकारी लेने आए। विश्वविद्यालय में आयोजित कॅरियर काउंसिलिंग एण्ड कम्प्यूटर में एज्यूकेशनल विकल्पों पर एकेएस वि.व   department of computer  के फैकल्टीज ने प्रकाश डाला कार्यक्रम में वि.वि. के प्रोचांसलर अनंत कुमार सोनी ,प्रतिकुलपति डाॅ.हर्षवर्धन,प्रो.आर.एस.त्रिपाठी ने छात्रों को संबोधित किया और कहा कि अप्प दीपो भव यानी अपने दीपक स्वयं बनें। कम्प्यूटर विभागाध्यक्ष डाॅ.अखिलेश ए.वाऊ अध्ययनरत विद्यार्थियों को डिपार्टमेंट आॅफ कम्प्यूटर में संचालित डिप्लोमा, सीएसई, बी.टेक.सीएसई, बीसीए आनर्स, बीएससी, आईटी, आनर्स, बी.टेक.कम्प्यूटर, बीएससी,सीएस, डीसीए, एमएससी, पीजीडीसीए, एमएससी इन सायबर सिक्योरिटी एण्ड डिजिटल फोरेन्सिक, डिप्लोमा इन साइबर सिक्योरिटी एण्ड डिजिटल फोरेन्सिक कोर्सेस के बारे में विस्तार से बताते हुए समझाया कि एकेएस वि.वि. का कम्प्यूटर साइंस विभाग आईआईटी मुम्बई का रिमोट सेंन्टर भी है और कई छात्र बडी कंपनियों में कार्यरत हैं। एकेएस वि.वि. में विधिवत लैब्स और कक्षाऐं हैं। फैकल्टी सीमा पटेल ओर फैकल्टभ् शंकर बेरा ने छात्रों को हैकिंग,इंटरनेट और अन्य विधिवत जानकारी दी। कार्यक्रम आयोंजन में वि.वि. सेे इंजीनियरिंग डीन डाॅ.जी.के.प्रधान, मार्केटिंग हेड अविनाश मिश्रा,आईटी हेड सोनू कुमार सोनी, एडमिनिस्ट्रेटर ब्ृजेन्द्र कुमार सोनी का महत्वपूर्ण योगदान रहा। कार्यक्रम में एकेएस वि.वि. के प्राध्यापकों ने विजिटिंग विद्यार्थियों के सवालों के तर्कसम्मत उत्तर भी प्रदान किए।

Hits: 33
0

b2ap3_thumbnail_WhatsApp-Image-2021-11-25-at-10.25.01-2.jpgb2ap3_thumbnail_WhatsApp-Image-2021-11-25-at-10.25.01.jpgb2ap3_thumbnail_WhatsApp-Image-2021-11-25-at-10.25.01-3-1_20211230-074534_1.jpgb2ap3_thumbnail_WhatsApp-Image-2021-11-25-at-10.25.01-1-2_20211230-074537_1.jpgb2ap3_thumbnail_WhatsApp-Image-2021-11-25-at-10.25.01-4-1_20211230-074542_1.jpg

एकेएस वि.वि. सतना के विभिन्न संकाय के छात्रों को नियमित रुप से कैम्पस के माध्यम से सेलेक्सन का मौका मिलता है इसी कडी में एकेएस विश्वविद्यालय, सतना के डिपार्टमेंट आॅफ फार्मेसी के तीन छात्रों मृदुल मिश्रा, अंबिका पटेल, जैनेन्द्र कुमार शुक्ला, बीटेक इलेक्ट्रिकल के छात्र अभिषेक सिंह और बेसिक साइंस के छात्र शिवम मिश्रा का चयन प्रीतम International private limited में हुआ है। उल्लेखनीय है कि प्रीतम International private limited, उत्तराखंड, रुडकी डियों और कास्मेटिक्स के मैन्युफैक्चरिंग और प्रोडक्शन के क्षेत्र में बडा नाम है। उन्हें अच्छे सैलरी पैकेज पर नियुक्ति मिली है जो एक वर्ष बाद अच्छे पैकेज में तब्दील होगी। सभी पाॅचों छात्रों के चयन पर वि.वि. के प्रोचांसलर अनंत कुमार सोनी, प्रतिकुलपति डाॅ.हर्षवर्धन, प्रो.आर.एस.त्रिपाठी टीपीओ एम. के. पाण्डेय और विनय सिंह ने उज्जवल भविष्य की शुभकामना दी है।

Hits: 34
0

b2ap3_thumbnail_ct-visit.jpg

एकेएस वि.वि. सतना के cement technology के छात्रों ने KJS cement की Visit के दौरान कई जानकारियाॅ हासिल की। बी.टेक. cement technology और डिप्लोमा के छात्र visit में शामिल हुए उन्होंने KJS cement plant पहुॅचकर cement manufacturing Process, CCR opreation, quality control, cement plant , safty manager और cement क्षेत्र में जाॅब करने के लिए क्या योग्यता और आर्हता होनी चाहिए और कार्यदक्ष होने के लिए किन प्रक्रियाओं का पालन भविष्य में जरुरी है ये जानकारी भी हासिल की। जबकि संपूर्ण विजिट के दौरान छात्रों को मूलभूत जानकारियाॅ मिले इसकी गहन जिम्मेदारी श्री वी.के.सिंह, इंजी. रवि पाण्डेय,इंजी.राहूल ओमर और इंजी.रोहित ओमर ने निभाई प्रो.जी.सी.मिश्रा ने छात्रों को समझाया कि अगर सीमेंन्ट क्षेत्र को अपना कॅरियर बनाना है तो कुछ अलग करने की ठानना ही पडेगा नाम रोशन करना है तो पढाई भी दिल लगाकर और प्रैक्टिकल और मेहनत से करना चाहिए।छात्रों ने संपूर्ण विजिट के दौरान उत्सुकता से समस्त जानकारियाॅ हासिल कीं। छात्रों की विजिट पर वि.वि. के प्रोचांसलर अनंत कुमार सोनी, प्रतिकुलपति डाॅ.हर्षवर्धन, डाॅ.आर.एस.त्रिपाठी, सीमेन्ट टेक्नाॅलाॅजी के डायरेक्टर प्रो.जी.सी.मिश्रा, विभागाध्यक्ष डाॅ.एस.के.झा ने हर्ष व्यक्त किया है।

Hits: 47
0

b2ap3_thumbnail_IMG-20211122-WA0031-1_20211229-155945_1.jpg

एकेएस वि.वि. के छात्रों को नियमित रुप से कैम्पस के माध्यम से सेलेक्सन का मौका मिलता है इसी कडी में एकेएस विश्वविद्यालय, सतना के Department of computer science and engineering के छात्र शुभम चैरसिया का चयन Rostris infotech इंदौर में बतौर software engineering किया गया है इनको प्रोबैशन पीरियड पर एक वर्ष कार्य करना होगा। इनके कार्यो में Python code, debugging Application, Intregating user Facing Implementation, desiging, Development के साथ एनालाइजिंग यूजर रिक्वायरमेंट, Right and test code research, design opreational documentation, कंसल्ट क्लायंटय एण्ड कलीग्स, कंसर्निग द मेंटेनेन्स शामिल है। उन्हें अच्छे सैलरी पैकेज पर नियुक्ति मिली है जो एक वर्ष बाद अच्छे केज में तब्दील होगी। शुभम के चयन पर वि.वि. के प्रोचांसलर अनंत कुमार सोनी, प्रतिकुलपति डाॅ.हर्षवर्धन, प्रो.आर.एस.त्रिपाठी, विभागाध्यक्ष डाॅ.अखिलेश ए. वाऊ के साथ कम्प्यूटर विभाग के फैकल्टीज ने उज्जवल भविष्य की शुभकामना दी है। 

Hits: 33
0