Joomla Business Themes by Web Host

  • Home
    Home This is where you can find all the blog posts throughout the site.
  • Categories
    Categories Displays a list of categories from this blog.
  • Archives
    Archives Contains a list of blog posts that were created previously.
Recent blog posts

b2ap3_thumbnail_DSC_2723.JPG

एकेएस वि.वि. सतना के इंजीनियरिंग डीन प्रो.जी.के.प्रधान ने अवगत कराया कि विगत दिनों उन्होने महानदी Coalfields Limited ओडीसा में राष्ट्रीय कार्यशाला में हिस्सा लिया । यहाॅ पर उन्होने कोल इंडिया की सबसिडियरी नेशनल कोलफील्डस लिमिटेड के आयोजन की गरिमा बढाई। उन्होने एक पेपर प्रजेन्ट किया और की नोट स्पीकर रहते हुए "Department of mining" का जिक्र किया और कहा कि 2013 से एकेएस वि.वि. लगातार देश की Mining कंपनियों में Training कार्यक्रम आयोजित कर रहा है जिसमें एनएमडीसी, उत्कल एल्यूमिना, हिंडाल्को इंडस्ट्रीज,जेएसडब्ल्यू कर्नाटका प्रमुख हैं जिनमें ट्रेनिंग के पर्याप्त नतीजे मिल रहे है। एकेएस वि.वि. के 10 Faculty Members लगातार जरुरी विषयों पर सारगर्भित और सूक्ष्म जानकारियाॅ प्रतिभागियों से साझा कर रहे हैं। ज्ञातव्य है कि 2012 से एकेएस वि.वि. ने एक ऐसा इंफ्रास्ट्रक्चर, फैकल्टी पूल, लेबोरेटरी और अन्य सुविधाऐ विकसित की हैं जिससे कई उद्योग एवं कंपनियाॅ भी लाभन्वित हो रही है और अपने संस्थानों में ट्रेनिंग कार्यक्रम का आयोजन करवा रही हैं जिसके शानदार परिणाम भी उन्हें मिल रहे हैं। कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर श्री पी.के.सिन्हा सीएमडी,सिंगरौली और अन्य डायरेक्टर्स भी उपस्थित रहे।

Hits: 98
0

Posted by on in AKS in News Papers

b2ap3_thumbnail_642c949b-547c-4594-ae17-ff65f7ba4d76.jpgb2ap3_thumbnail_09537510-f4e2-47e0-a860-1f9cf2e12cce.jpgb2ap3_thumbnail_nvn_20211027-055816_1.jpg

Hits: 87
0

b2ap3_thumbnail_eng4.JPGb2ap3_thumbnail_eng1.JPGb2ap3_thumbnail_eng3.JPGb2ap3_thumbnail_eng2_20211026-063753_1.JPG

एकेएस विश्वविद्यालय सतना के सभागार में विश्वविद्यालय के Faculty of engineering .And Technology के बीटेक और डिप्लोमा के सभी संकायों का ओरिएंटेशन कार्यक्रम आयोजित हुआ। आयोजन में Civil, Electrical ,Mechanical, Mining, Computer, Cement tech विभाग के नवप्रवेशी छात्र-छात्राऐं उत्साह से शामिल हुए। कार्यक्रम का शुभारंभ विद्या की देवी माँ सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष सम्माननीय अतिथियों द्वारा दीपक की लौ प्रज्जवलित कर पुष्पांजलि अर्पित करके की गई अक्षत के चावल के साथ स्प्रिच्युलिज्म की लौ के बीच मंच से एंकर ने ओरिएंटेशन कार्यक्रम में आए अतिथियों और नवागत प्रथम वर्ष के स्टूडेन्टस के परिजनों का भी स्वागत किया। Faculty of engineering .And Technology के सभी आए नवप्रवेशी विद्यार्थियों को काक चेष्ठा, बकुल ध्यानम, स्वान निद्रा और अल्प भोजी रहकर अध्ययन करने और अध्यापकों के साथ निंरंतर संपर्क रखने व विषय की गहराई से जानकारी प्राप्त करने की सलाह के साथ अपने सपनों को पूरा करने के लिए दिन रात मेहनत करने की सलाह के साथ शुभकामनाएं दीं गईं। मंच पर आए सभी वरिष्ठजनों का परंपरानुसार सम्मान पुष्प देकर किया गया। इस मौके पर विद्यार्थियों को एकेएस विश्वविद्यालय की स्थापना के उद्येश्यों से लेकर अब तक के एकेडमिक एक्सीलेस के सफर का विस्तृत व्योरा देते हुए वि.वि के एकेडमिक उच्चतम आयामों, आईआईटी और आईआईएम के शिक्षकों के माध्यम से अध्ययन-अध्यापन के साथ अतिथि व्याख्यान, सेमिनार्स व वेबिनाॅर्स के बारे में बताते हुए इण्डस्ट्री ओरिएंटेड रेगुलरली अपडेटेड सिलेबस, इंजीनियरिंग की Faculty, एक्जाम में समय पर परीक्षा, समय पर परिणाम, चांसलर स्कॅलरशिल, एससी, एसटी, ओबीसी और अन्य मिलने वाली स्काॅलरशिप के साथ विश्व के विभिन्न देशों के विश्वविद्यालयों एवं संस्थानों से एकेएस वि.वि. के टाई-अप्स और Students Achievement से परिचित कराया गया। Training एवं Placement के द्वारा दिए जाने वाले रोजगार के बारे में भी परिचित कराया गया। नवप्रवेशी विद्यार्थियों को कहाॅ से क्या सुविधा मिलेगी जैसे Students I card, Lib Card, Bus सुविधा, किस ब्लाॅक में कक्षायें लगेंगी और फैकल्टीज से परिचय इत्यादि भी ओरिएंटेशन कार्यक्रम के दौरान कराया गया इसके अतिरिक्त स्प्रिच्युअल स्टडीज में एक धार्मिक ग्रंथ का अध्ययन,उनकी कक्षाओं और लायब्रेरी की जानकारी प्रदान की गई। इस मौके पर Faculty of engineering .And Technology के सभी विद्यार्थियों ने एक दूसरे से परिचय भी प्राप्त किया और कक्षाओं में दो वर्ष बाद आने की खुशी भी जाहिर की। ओरिएंटेशन कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के प्रो चांसलर अनंत कुमार सोनी ने संबोधित करते हुए कार्यक्रम में आए Students के परिजनों का स्वागत करते हुए Students को कई ज्ञानवर्धक बातें बताई,प्रति कुलपति प्रो. आर.एस. त्रिपाठी ने ओरिएन्टेशन को जीवन का अहम पडाव बताया और इसे नीव कहा ओएसडी प्रो. आर.एन. त्रिपाठी ने अपने अभिनव अनुभव शेयर किए इंजी. डीन प्रो.जी.के.प्रधान ने संबोधित करते हुए कहा कि अवसरों को पाना है कुछ करके दिखाना है। कार्यक्रम में प्रो.अनिल मित्तल, Cement technology विभागाध्यक्ष डाॅ.एस.के.झा, बी.के.सिंह, एडमिनिस्ट्रेटर इंजी.आर.के.श्रीवास्तव, मैकेनिकल विभागाध्यक्ष डाॅ. पंकज श्रीवास्तव, सीएस विभागाध्यक्ष डाॅ. अखिलेश ए.वाऊ माइनिंग विभागाध्यक्ष डाॅ.बी.के.मिश्रा, इलेक्ट्रिकल विभागाध्यक्ष इंजी.रमा शुक्ला, सिविल विभागाध्यक्ष विशुतोष वाजपेयी, स्काॅलरशिप विभाग से अवनीश मिश्रा की उपस्थिति में कार्यक्रम संपन्न हुआ।

Hits: 97
0

b2ap3_thumbnail_IMG-20211016-WA0023.jpg

Western और भारतीय संगीत की मद्विम सुर लहरियों के बीच इंद्रधनुषी छटा की बानगी की पेशगी एकेएस वि.वि. का फैब फ्यूजन..आगाज से अंजाम तक नूर ही नूर बना रहा। कहते हैं कि फैशन की उम्र बहुत छोटी होती है लेकिन अपनी इसी प्रवृत्ति के कारण यह हमेशा रोजगार की संभावनाओं से युक्त रहेगा। साथ ही प्रतिभाशाली लोगों के लिए प्रसिद्वि, ग्लैमर, सफलता, अच्छे वेतन और कॅरियर की गारंटी भी होगा।
एकेएस वि.वि. के Department of fashion ने आयोजित किया फैब फ्यूजन- इसी संदर्भ में सृजनात्मकता के पटल पर एकेएस विश्वविद्यालय सतना के फैशन डिजाइनिंग विभाग द्वारा विगत दिनों दो दिवसीय फैब फ्यूजन खास आकर्षण का विषय रहा। सतना जिले के लिए यह हर्ष और गौरव का केन्द्र रहा, यहाँ पर उचित सौदर्यशस्त्र की समझ, रंग कूट करने की विशेषज्ञता, प्रचलन का जायका व समझ की बानगी देखने को मिली। आर्गेनाइजर प्रीति सिंह के मार्गदर्शन में Handmade Article और materials ने सभी आने वालों का ध्यान खींचा। यहाॅ व्यावहारिकता,आराम,फैशन,आकर्षण,स्टायलिश,वैभवशाली और परंपरा के साथ वेस्टर्न ओर माडर्न कल्चर की झलक मिली।
इन विधाओं ने खींचा Visiters का ध्यान-जिसमें रेजिन क्लाक एक ऐसी खूबसूरती से बनाई गई वाल क्लाॅक जो आपके सपनों के महल के इंटीरियर मे चार चाॅद लगा देती है और घर को एक बेहतरीन डिजाइन प्रदान करती है, वैक्स कैंडल्स और दीपक जो रंगों के संयोजन से खास बनती है जलकर खुश्बू देना इसकी खास विधा है फैन्सी ड्रेसेस में रचनात्मकता और महत्वाकांक्षा के साथ ड्राइंग, कटिंग, मेंकिंग टेक्सचर और रंगो के खोज की अभिवृत्ति नजर आई। कुशन के विविध स्टाइल और Patterns ने exhibition में आनें वालों को अपनी ओर आकर्षित किया। पेबल आर्ट के बारे में आयोजको ने बताया कि रिवर राॅक को विविध रंगों से पेंट करके टेबल पर सजाना और अनेक रंग देना इसे आकर्षण का विषय बनाता है। मंडला आर्ट की उत्पत्ति हिन्दुइज्म और बुद्विज्म से जुडी है इसकी ज्योमेट्रिक डिजाइन जो कास्मोस को रिप्रजेंट करता है ने विजिटर्स को खुब लुभाया। अनेक रंग, स्टाइल अैार डिजाइन की चाबियों की रिंग्स को खुब खरीदार मिले। आपको याद होगा जब आप किसी फिल्म या सीरियल की दीवारें देखते हैं तो अचानक आपके मुॅह से निकलता है वाव, ऐसा ही नजारा रहा वाल हैंगिंग एक्जीविशन का। वैक्स कैण्डल्स इत्यादि भी काफी प्रश्ंासित रहीं।
पाॅच हजार से ज्यादा लोगों ने आकर देखा और सराहा-मंद संगीत की इबारत पर मुस्कुराते हुए थिरकते कदमों से बालसुलभ मुस्कान लिए नन्हें मुन्हों से लेकर शहर के फैशन और नए ट्रेड को फालों करने वाले विजिटर्स यहाॅ की रौनक बने। एक्जीबिशन में दो दिनों में 5 हजार से ज्यादा विजिटर्स के चेहरे विविध संयोजन देखकर खुशी से खिल उठे। कहीं शोख रंग तो कहीं मटमैला व मद्विम पीला या गुलाबी,सब एक कहानी के साथ। सबने न सिर्फ सजाई गई चीजों को निहारा,सराहा बल्कि जम कर खरीददारी भी की। कार्यक्रम का उद्देश्य निरूपित करते हुए विभागाध्यक्ष ने बताया कि विश्वविद्यालय के फैशन डिजाइनिंग,प्रोडक्ट डिजाइनिंग और ग्राफिक्स डिजाइनिंग के सभी विद्यार्थियों ने हैण्डमेड थिंग्स, कला के विविध प्रारूपों में निर्मित चीजें, उनकी हैण्डलिंग और पैकेजिंग की जानकारी भी कार्यक्रम के माध्यम से पुख्तगी से प्राप्त की।
करवाचैथ और दीपावली एक्जिबिशन में विशिष्टजन हुए शामिल-करवाचैथ और दीवाली के लिए हुए एग्जीवीशन में 5 हजार से ज्यादा लोग विविध संयोजनों से बने एक्जीविशन को देखने पहुॅचे। विश्वविद्यालय के प्रो चांसलन अनंत कुमार सोनी और अन्य विजिटर्स ने पहुंचकर इसे विशिष्ट स्वरूप प्रदान किया। इस एग्जीवीशन में अंबिका बेरी मुख्य अतिथि रहीं। फैकल्टी मेम्बर्स में अभिनव श्रीवास्तव, आकांक्षा धनवानी, रेखा सिंह, चुमन यादव और रेनू सिंह ने कार्यक्रम को सफल बनाने में अभूतपूर्व योगदान दिया। यहाॅ आने वालों के लिए यह एक रोचक,अविस्मरणीय और अद्भुत अनुभव रहा। प्रशंसा से आलोडित यह संपूर्ण करवाॅ समापन के साथ अगले वर्ष आने के वादे के साथ विदा हुआ।

 

Hits: 82
0

b2ap3_thumbnail_DSC_7102-1_20211029-063216_1.jpg

एकेएस वि.वि. सतना की फैकल्टी सुषमा सिंह परिहार ने International conference on Technological एमर्जिंग challenge इन Computer Science And इंजीनियरिंग Department of सीएसई तिरुमाला इंजीनियरिंग काॅलेज जोन्नालागडडा,नारासाराओपेट,आंध्रप्रदेश के कार्यक्रम में अपना Paper Presentation किया। उनका विषय Study of एजोल्स Age Biotechnology Active Agent रहा। उनके Presentation के बाद उन्हें certificate और सम्मान पत्र प्रदान किया गया। कार्यक्रम Department of सीएसई द्वारा आयोजित हुआ। उनका पेपर टू के 21 विथ आईएसबीएन में प्रकाशित हुआ है। उन्हें विभाग के सभी Faculty member ने भविष्य की शुभकामनाऐं दीं हैं। उनके इस रिसर्च Paper Presentation में Faculty शैलेन्द्र यादव की भी विशेष सहभागिता रही।

Hits: 82
0

b2ap3_thumbnail_inductionn11.JPGb2ap3_thumbnail_indduction-11.JPGb2ap3_thumbnail_inducttion11.JPG

वि.वि. पहुॅचकर छात्रों ने प्राप्त की एकेडमिक और अन्य जानकारियाॅ
सतना। एकेएस विश्वविद्यालय सतना के सभागार में विश्वविद्यालय के तीन संकायों के Orientation कार्यक्रम आयोजन में नवप्रवेशी छात्र-छात्राऐं उत्साह से शामिल हुए। जिसमें Bio tech, CS और Basic Science के Students शामिल हुए। कार्यक्रम का शुभारंभ माँ वीणा पाणि की प्रतिमा के समक्ष दीपक की लौ प्रज्जवलित कर पुष्पार्चन करके की गई अक्षत के चावल के साथ आध्यात्मिकता की लौ के बीच अतिथियों ने Orientation कार्यक्रम में आए विद्यार्थियों को मन लगाकर अध्ययन करने की सलाह के साथ अपने सपनों को पूरा करने की शुभकामनाएं दीं। सभी वरिष्ठजनों का परंपरानुसार सम्मान पुष्पगुच्छ देकर किया गया। इस मौके पर विद्यार्थियों को विश्वविद्यालय की स्थापना से अब तक के उच्चतम आयामों,अध्ययन-अध्यापन के बारे में परिचित कराया गया जिसमें Industry oriented और रेगुलरली अपडेटेड सिलेबस,उनकी फैकल्टीज,समय पर परीक्षा,समय पर परिणाम,एग्जामिनेशन, स्काॅलरशिप और विभिन्न देशों के विश्वविद्यालयों एवं संस्थानों से टाई-अप्स और Students achievement से परिचित कराया गया। training एवं Placement के द्वारा किए जा रहे कार्यों पर प्रकाश डाला गया। विद्यार्थियों को I Card, LIB Card, बस सुविधा,कक्षायें और फैकल्टीज से परिचय इत्यादि भी Orientation कार्यक्रम के दौरान कराया गया कहाॅ से क्या सुविधा मिलेगी के अतिरिक्त उनकी कक्षाओं और लायब्रेरी की जानकारी प्रदान की गई। विद्यार्थियों ने एक दूसरे से परिचय भी प्राप्त किया और खुशी का इजहार भी किया कि कोविड-19 के बाद आखिरकार शिक्षा केन्द्र खुले और उन्हें रुबरु अध्ययन का मौका मिला हालाॅकि एकेएस वि.वि. ने कोविड के दौर मे भी शिक्षा के प्रकाश को आलोकित किया और शानदार अध्ययन-अध्यापन की Online कडी कायम रखते हुए हजारो लेक्चर्स Students के लिए अपलोड करवाऐं और छात्रों को असुविधा से भी बचाए रखा। समय पर परीक्षा परिणाम भी घोषित हुए। Orientation कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के प्रो चांसलर अनंत कुमार सोनी, प्रति कुलपति प्रो. आर.एस. त्रिपाठी, ओएसडी प्रो. आर.एन. त्रिपाठी, कैप्टन रावेन्द्र सिंह परिहार एनसीसी अधिकारी, सीएस विभागाध्यश अखिलेश ए. वाऊ, बायोटेक विभागाध्यक्ष कमलेश चैरे, फिजिक्स विभागाध्यक्ष डाॅ. नीलेश राय, केमेस्ट्री विभागाध्यक्ष डाॅ. दिनेश मिश्रा, मैथ्स विभागाध्यक्ष सुधा अग्रवाल की उपस्थिति में छात्र छात्राओं ने न्यू एजुकेशन पाॅलिसी के तहत चलाए जा रहे पाठ्यक्रम की भी जानकारी प्राप्त की।

 

Hits: 83
0

b2ap3_thumbnail_teeka-3.JPGb2ap3_thumbnail_teeka-4.JPGb2ap3_thumbnail_teeka-1.JPGb2ap3_thumbnail_teeka-5.JPGb2ap3_thumbnail_teeka-2.jpg

एकेएस वि.वि. सतना के सभी संकायों में कोरोना कोविड काल के बाद छात्रों का Ofline Mode में अध्ययन के लिए वि.वि. आना 27 सितंबर से प्रारंभ हुआ इस मौके पर वि.वि. ने नवाचार करते हुए Mining, Farmacy, Management, इलेक्ट्रिकल इंजी., शिक्षा विभाग, मैकेनिकल इंजी., सिविल इंजी., Basic Science, पर्यावरण, डिजाइन, कम्प्यूटर, फूड टेक, कामर्स और सोशल वर्क विभाग में वि.वि.आए Students का Welcome रोली का टीका लगाकर और मुॅह मीठा करवाकर कक्षाओं में स्नेह से प्रवेश कराया गया।। उल्लेखनीय है कि वि.वि. ने कोविड के दौर में भी सभी संकाय के विद्यार्थियों के लिए नियमित रुप से Online कक्षाऐं जारी रखीं ओर Students की पढाई को प्रभावित नहीं होने दिया। इस मौके पर छात्रों को कोविड प्रोटोकाल की हिदायत देते हुए सावधानी बरतने की सलाह सभी विभागों में प्रदान की गई। मौके पर छात्र-छात्राओं में भारी उत्साह Ofline कक्षाओं के लिए देखा गया। सभी संकायों के विभागाध्यक्षों ने अपने अपने संकाय की कमान सॅभाली और Students से इंटरैक्शन भी किया। वि़द्वार्थी कक्षाओं में पहुॅचे और अपने सहपाठियों से लंबें अंतराल के बाद मिलने की खुशी साझा की।

 

Hits: 99
0

b2ap3_thumbnail_Rahul-Omar.jpg

एकेएस विश्वविद्यालय सतना के कैमेस्ट्री विभाग के Research Scholar एवं Cement Technology के सहायक प्राध्यापक राहुल ओमर ने तीर्थांकर महावीर युनिवर्सिटी के विगत दिनों आयोजित कार्यक्रम में material And device के मूल विषय पर आयोजित सम्मेलन में अपने विषय जैथनगम का उपयोग करके ट्रिकल ब्रेड में दबाव ड्राप की कमी पर व्याख्यान दिया। उन्होने बताया कि इंडस्ट्री में एनर्जी का बहुत उपयोग है। पेट्रोलियम और रिफाइनरी उद्योग में इसका ज्यादा प्रयोग है। दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का मूल विषय पदार्थ एवं यंत्र पर आधारित रहा। उन्होंने अपने शीर्षक राहुल ओमर के कार्य की सराहना संगोष्ठी में उपस्थित अलग अलग संस्थान से आए आचार्य एवं वैज्ञानिकों ने की। सीमेंन्ट टेक्नाॅलाॅजी के डायरेक्टर प्रो.जी.सी.मिश्रा, डीन बेसिक साइंस डाॅ. आर.एन. त्रिपाठी, विभागाध्यक्ष डाॅ. दिनंश मिश्रा एवं अन्य ने उनके राष्ट्रीय संगोष्ठी में भाग लेने ओर सफल व्याख्यान के लिए हार्दिक खुशी जाहिर की है।

Hits: 117
0

Posted by on in AKS in News Papers

b2ap3_thumbnail_IMG-20210904-WA0002.jpgb2ap3_thumbnail_IMG-20210904-WA0003.jpgb2ap3_thumbnail_IMG-20210904-WA0004.jpgb2ap3_thumbnail_IMG-20210904-WA0005.jpg

Hits: 133
0

b2ap3_thumbnail_keerti-samdariya.jpg

एकेएस वि.वि. सतना के "Department of biotech" में बतौर सहायक प्राध्यापक कार्यरत Faculty कीर्ति समदरिया का जल की गुणवत्ता पर research Paper International Journal of Science इंजी. Development search में प्रकाशित हुआ है N Development open ACES Journal के सितंबर अंक में प्रकाशित कीर्ति के शोध पत्र का विषय Physical Chemical analysis Of Water सतना को शोध पत्र को वाल्यूम सिक्स, इश्यू सिक्स के सितंबर अंक में स्थान मिला है जो काफी प्रशंसित भी रहा है। पानी की फिजिको केमिकल प्रापर्टी का विश्लेषण करने पर कई अहम जानकारियाॅ दी गई हैं सतना जिले के विभिन्न अंचलों से नल के पानी का सैम्पल लिया गया और पानी की गुणवत्ता के लिए मशीनों व वैज्ञानिक उपकरणों की सहायता से कुछ पैरामीटर पर पानी की क्वालिटी का विश्लेषण किया गया। पानी के महत्वपूर्ण कंटेट यथा तापमान, कुल घुले ठोस, रासायनिक आक्सीजन की जरुरत, जैविक आक्सीजन की माॅग के साथ पानी में घुले हुए आक्सीजन को जाॅचा गया। शोध पत्र में यह जानने व जाॅचने की कोशिश की गई है कि घरेलू व आद्योगिक संस्थानों द्वारा होने वाले जलप्रदूषण को प्रयास करके कैसे कम किया जा सकता है प्रदूषण का कोई भी कारक घातक है फिर जल तो हमारा जीवन है और इसका प्रदूषण काॅफी घातक है। कैसे पानी की गुणवत्ता सुधरे और पानी का सही उपयोग हो इस पर भी जानकारी दी गई है। शोध पत्र के कोआथर प्रो.आर.एस.निगम,एकेएस वि.वि. और ओपी.राॅय शासकीय स्वशासी महा सतना है। उल्लेखनीय है कि कीर्ति कैमेस्ट्री की रिसर्च स्काॅलर है। कीर्ति के कार्य को एकेएस वि.वि. के प्रोचांसलर इंजी.अनंत कुमार सोनी, प्रतिकुलपति डाॅ.हर्षवर्धन, प्रो.आर.एस.त्रिपाठी, प्रो.आर.एन.त्रिपाठी प्रो.जी.पी.रिछारिया, विभागाध्यक्ष बायोटेक डाॅ.कमलेश चैरे और समस्त फैकल्टी मेंम्बर्स ने सराहा है और हर्ष व्यक्त करते हुए उन्हे भविष्य में रचनात्मक उन्नति के लिए हार्दिक शुभकामनाऐं दीं हैं।

Hits: 114
0